छत्तीसगढ़ में कृषि | Chhattisgarh Me Krishi | Agriculture in Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ में कृषि Chhattisgarh Me Krishi Kharif fasal Rabi fasal Agriculture in Chhattisgarh

  • छ.ग. कृषि प्रधान राज्य है। 
  • यहाँ 80% लोग कृषि पर निर्भर है। 
  • छ.ग. में कुल कृषक परिवार 37.64 लाख लोग है। 
  • छ.ग. में लघु व सीमांत कृषक 28.12 लाख (76%) लोग है। 
  • छ.ग. की कृषि मानसून पर निर्भर है। 
  • छ.ग. में कृषि को मानसून का जुआ कहते है। 
  • भू-राजस्व का निर्धारण कलेक्टर करता है। 
  • बन्दोबस की अवधि 30 वर्ष से कम नहीं हो सकती है। 
  • राजस्व वर्ष -1 अक्टूबर से चालू होता है। 
  • कृषि वर्ष – 1 जुलाई से चालू होता है। 
  • छ.ग. में औसत वर्षा 150 cm. होती है। 
  • “कर के सीखो” नारा कृषि क्षेत्र का है। 
  • छ.ग. में बेरपा त्यौहार कृषि से संबंधित है। 
  • छ.ग. में कुल बोया गया क्षेत्र 56 लाख हेक्टेयर। 
  • छ.ग. में शुद्ध बोया गया क्षेत्र – 46 लाख हेक्टेयर । 
  • छ.ग. में 35% क्षेत्र में सिंचित होता है। 
  • छ.ग. में औसत जोत का आकार 1.36 हेक्टेयर है। 
  • जैविक कृषि में दंतेवाड़ा जिला आगे है। 
  • छ.ग. को 3 कृषि जलवायु में बाँटा गया है : 1. अम्बिकापुर 2. रायपुर 3. जगदलपुर


छत्तीसगढ़ में फसलों के प्रकार 

chhattisgarh me krishi chhattisgarh me fasal


फसलों का क्षेत्रफल

1.कुल बोया गया :-( 56 लाख हेक्टेरे )

सर्वाधिक – राजनांदगाव 

न्यूनतम – नारायणपुर 

खरीफ फसल – सर्वाधिक – जांजगीर चाम्पा 

2.शुद्ध-निरा बोया गया :-( 46 लाख हेक्टर )

सर्वाधिक – राजनांदगाव 

न्यूनतम – नारायणपुर 

रबी फसल – सर्वाधिक – बेमेतरा 

3.द्वी-फसली:-

सर्वाधिक – बेमेतरा 

न्यूनतम – बीजापुर  

फसलों का उत्पादन ( प्रति हेक्टर )

क्र फसल  2015-16 (KG) 2017-18 2020-21
1. धान 1953
2. मक्का 1881
3. गेहू 1345
4. चना 779
5. सोयाबीन 488
6. गन्ना 2440
7. कपास 326
8. ज्वर 805
9. तुवर 470

नोट :- एक हेक्टेयर = 2.53 एकड़ ( 2 एकड़ 53 डिसमिल )

          एक डिसमिल = 435 स्कोर फ़ीट 

समर्थन मूल्य

क्र  फसल  2017-18 2020-21
1. धान पतला (B) 1550 रु + 300 बोनस
धान पतला (A) 1560 रु + 300 बोनस
2. मक्का 1425 रु
3. गेहू
4. चना
5. सोयाबीन 3050 रु
6. गन्ना 255 रु
7. कपास
8. ज्वार
9. मूंगफली 4450 रु
10. तेंदूपत्ता 2500 रु प्रति बोरा
11. इमली 2200 रु प्रति बोरा

नोट :- धान की खरीदी मार्कफेट करता है । 


फसलों की किस्मे

1. धान  सोना मसरी , महामाया , IR-36 , गोल गुरमटिया , माहेश्वरी , पूर्णिमा , इंदिरा 9, हजार दस , हंट , अदि ।
2. गेहू  स्वाति , सुजाता , शर्बरी , बिलासा , अरपा , रतन
3. चना  वैभव
4. सोयाबीन  गौरब , दुर्गा , MACS.58, NRC.37
5. सरसो  छत्तीसगढ़ सरसो
6. अरहर  राजीव लोचन
7. आम  इंदिरा , नंदिराज


उत्पादन व क्षेत्रफल 

1.फसलों के उत्पादन :-

  • खाद्दान :- 84 लाख मीट्रिक टन
  • दलहन :- 7 लाख मीट्रिक टन 
  • तिलहन :- 1 लाख मीट्रिक टन 
  • गन्ना :- 0.76 लाख मीट्रिक टन 

2.फसलों के क्षेत्रफल 

  • खाद्दान :- 43 लाख मीट्रिक टन
  • दलहन :- 8 लाख मीट्रिक टन 
  • तिलहन :- 2 लाख मीट्रिक टन 
  • गन्ना :- 7 लाख मीट्रिक टन 

नोट :- कृषि की GDP में योगदान -> 20575 करोड़ (10.42%) है ।


कृषि शोध संसथान

कृषि प्रशिक्षण अकादमी रायपुर 
कृषि शोध संसथान  लाभांडी ( सन 1903 से )
कृषि यन्त्र प्रशिक्षण प्रयोग शाला  रायपुर 
बीज प्रयोग शाला  बिलासपुर  जगदलपुर , अंबिकापुर 
छत्तीसगढ़ राज्य कृषि विपरण  बोर्ड  रायपुर है (2003)
कोसा शोध संसथान  बस्तर 
टमाटर शोध संसथान  मैनपाट 
चावल शोध संसथान  लाभांडी ( रायपुर )
काजू शोध संसथान  बस्तर 
  • 92 विकास खंडो में शहीद वीर नारायण सिंह कृषक सेवा केंद्र स्थापित किया गयाः ।
  • 12 मिटटी प्रशिक्षण प्रयोगशाला व 110 मिनी लैब है ।
  • किसानो को दो रुपए में मिटटी प्रशिक्षण किया जाता है ।
  • 360 कृषक सूचना केंद्र स्थापित किया गया  है ।

नोट :- 1.chhattisgarh में हरित कर्नाटि के वैज्ञानिक :- डॉ रिछारिया जी है 

          2.38.91 लाख किसानो को मिटटी स्वस्थ्य कार्ड बनाया गया है ।


मंडी

क्रमांक  आदर्श मंडी  फल सब्जी मंडी 
1. राजनांदगाव  राजनांदगाव 
2. कवर्धा  दुर्ग 
3. धमतरी  बिलासपुर 
4. कुरुद  रायपुर 
5. मुंगेली  पंखाजूर 
6. रायगढ़ 

नोट :-

  1. छत्तीसगढ़ में 69 मंडिया है ।
  2. छत्तीसगढ़ में 188 उपमंडिया है ।
  3. छत्तसगढ़ में 1986 धन उपार्जन केंद्र है ।


किसान शॉपिंग मॉल सेण्टर 

1.राजनांदगाव मंडी ।

2.महासमुदन मंडी ।

 

पुरस्कार 

( कृषि कर्मण पुरस्कार )

क्रमांक  वर्ष  क्षेत्र 
1. 2010-11 धान के लिए 
2. 2012-13 धान के लिए 
3. 2013-14 धान के लिए 
4. 2014-15 दलहन  के लिए 

नोट :-

  1. एग्रीकल्चर लीडरशिप अवार्ड-2017 को बागबानी फसल के लिए छत्तीसगढ़ को मिला है ।
  2. मिटटी स्वस्थ्य कार्ड योजना के सर्वश्रेस्थ क्रियान्वयन के लिए मोदी द्वारा बलरामपुर- रामनुजगंदज को उत्कृष्टता पुरस्कार से सम्मानित किया गया ।


भारत में प्रथम 

  • लाख के उत्पादन में छत्तीसगढ़ भारत में प्रथम है ।
  • तेंदूपत्ता  के उत्पादन में छत्तीसगढ़ भारत में प्रथम है ।


निगम ( सार्वजनिक वितरण प्रणाली  के लिए )

  1. राज्य  बीज व कृषि विकास निगम
  2. राज्य खाद्य व नागरिक आपूरित निगम
  3. राज्य भंडार गृह निगम आयोग की स्थापना किया गया है ।


सुखा राहत हेतु कदम

सुखा प्रभावित किसानों को 1 क्विंटल धान निःशुल्क दिया जाता है।

सुखा प्रभावित किसानों की बेटियों की विवाह के लिए 30 हजार रू. दिया जाता है।

असिंचित क्षेत्र की बीमा सहायता -> 6800 रू. प्रति एकड़ है।

सिंचित क्षेत्र की बीमा सहायता ->13500 रू. प्रति एकड़ ।


कृषि शिक्षा संस्थान

1. बायोटेक्नोलॉजी में स्नात्कोत्तर की व्यवस्था 2017
2. दीनदयाल उपाध्याय स्मृति अनुसंधान की स्थापना  2011
3. इंदिरा कृषि विश्वविद्यालय रायपुर 1987
4. कृषि महाविद्यालय रायपुर 1961
5. शहीद गुण्डापुर कृषि महाविद्यालय जगदलपुर 2001
6. ठाकुर छेदीलाल कृषि महाविद्यालय बिलासपुर 2001
7. राजमोहनी देवी कृषि महाविद्यालय अंबिकापुर 2001

इन्हे जरूर पढ़े :-

👉छत्तीसगढ़ की मिट्टिया

👉छत्तीसगढ़ में नदियों किनारे बसे शहर

👉छत्तीसगढ़ में सिंचाई व्यवस्था

👉छत्तीसगढ़ का नदी परियोजना

👉छत्तीसगढ़ के नदियों की लम्बाई

Leave a Reply