हरित क्रांति क्या है ? Harit Kranti Kya hai

4.5/5 - (13votes)

हरित क्रांति क्या है ? Harit Kranti Kya hai

हरित क्रांति का अर्थ कृषि उत्पादन तकनीक को सुधारने एवं कृषि उत्पादन में वृद्धि करने से है। यह वैज्ञानिक एवं सुनियोजित प्रयत्न पर आधारित है।

हरित क्रांति से जुड़े लोग

  • विश्व में हरित क्रांति के जनक–डॉ. नार्मन बोरलॉग
  • भारत में हरित क्रांति के प्रणेता–डॉ. एम. एस. स्वामीनाथन
  • भारत में हरित क्रांति के समय प्रधानमंत्री–इंदिरा गांधी
  • भारत में हरित क्रांति के समय कृषि मंत्री–सी. सुब्रमण्यम

प्रमुख कारक :

  • अधिक उपज देने वाली किस्मों (बीजों) का कार्यक्रम HYVP (1966-67) : प्रारंभ में पांच फसलों- धान, गेहूं, ज्वार, बाजरा, मक्का के लिए। गेहूं में मेक्सिकन, पीवी 303, अर्जुन, कल्याण, सोनारा आदि संकर किस्में प्रयुक्त.
  • रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग : नाइट्रोजन (N), फास्फेट (P) एवं पोटाश (K)
  • पौध संरक्षण : मृदा परीक्षण एवं कीटनाशकों का प्रयोग सल्फास, गेमेक्सीन आदि
  • लघु सिंचाई पर बल : वर्षा की अनिश्चितता से मुक्ति पाने हेतु- पम्प सेट, ट्यूबवेल
  • बहु फसल कार्यक्रम :कम समय में तैयार होने वाली फसलें तथा फसलों में हेर-फेर
  • आधुनिक कृषि उपकरणों का प्रयोग: ट्रेक्टर, बुलडोजर, थ्रेसर, क्रेशर, हार्वेस्टर, स्प्रिंकलर आदि

अन्य संस्थागत उपाय

  • कृषि उपज का उचित मूल्य : कृषिगत लागत एवं मूल्य आयोग का गठन 1965, समर्थन मूल्य पर खरीद की नीति.
  • कृषि शिक्षा एवं अनुसंधान : प्रथम कृषि विश्वविद्यालय- पंतनगर कृषि वि.वि.
  • भूमि सुधार एवं भू-संरक्षण पर बल, कृषि वित्त की सुविधाएं, ग्रामीण विद्युतीकरण

हरित क्रांति के लाभ :

  • उत्पादन में वृद्धि जिससे खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता
  • कृषि बचत में वृद्धि
  • नए रोजगार के अवसरों में वृद्धि
  • कृषि के परंपरागत स्वरूप में परिवर्तन- वैज्ञानिक कृषि को बढ़ावा
  • सामाजिक संरचना में परिवर्तन

हरित क्रांति की सीमाएं

  • हरित क्रांति के प्रथम चरण का प्रभाव केवल कुछ क्षेत्रों (पंजाब, हरियाणा, प. उत्तरप्रदेश) तक सीमित रहा।
  • हरित क्रांति का सर्वाधिक लाभ गेहूं के उत्पादन को मिला जिससे उत्पादन व उत्पादकता दोनों में वृद्धि हुई। इसलिए इसे कुछ लोग गेहूं क्रांति भी कहते हैं। उन्नत बीज कार्यक्रम गेहूं, चावल, मक्का, बाजरा व ज्वार जैसे अनाज के फसलों तक तक सीमित रहा इसमें भी चावल उत्पादन में बहुत कम वृद्धि हुई व मोटे अनाज (ज्वार, बाजरा, मक्का) का उत्पादन या तो स्थिर रहा या उसमें धीमी वृद्धि हुई।
  • हरित क्रांति का कोई भी लाभ दालों को नहीं प्राप्त हो सका।
  • आधुनिक तकनीक के प्रयोग में खेतों के छोटे आकार से बाधक बने।

हरित क्रांति की हानिया

  • असंतुलित विकास : केवल कुछ क्षेत्रों तक सीमित रहने के कारण संपन्न राज्य और सम्पन्न हुए जबकि पिछड़े राज्य विकास में और पीछे हो गए।
  • पर्यावरण पर दुष्प्रभाव – अत्यधिक दोहन से जल संकट, उर्वरकों के प्रयोग से भूमि की लवणता में वृद्धि, कीटनाशकों के अत्यधिक प्रयोग से मानव, पशु-पक्षी एवं पर्यावरण को खतरा।
  • खेतिहर श्रमिकों की बेकारी
  • पूंजीवादी कृषि को प्रोत्साहन, केवल बड़े किसानों को लाभ

हरित क्रांति ने जहां एक ओर उत्पादन व उत्पादकता में वृद्धि की है ओर पारिस्थितिकी पर भी विपरीत प्रभाव डाला है। सिंचाई सुविधाओं के बिना जल | निकास की व्यवस्था करने से मिट्टी में क्षारीयता बढ़ी है। कीटनाशकों के अवैज्ञानिक प्रयोग से मानव व पर्यावरण को अनेक खतरे बढ़ गये हैं। मिट्टी उर्वरता व मिट्टी संरचना के संरक्षण के लिए बिना प्रभावी कदम उठाये सघन कृषि पर बल दिया जा रहा है जिससे खेतों के रेगिस्तान में परिवर्तित होने का खतरा बढ़ा है।

हरित क्रांति 1980-81 के बाद

  • 1980-81 से चावल व तिलहन का निष्पादन बेहतर हुआ। इनके उत्पादन वृद्धि दर अधिक थी।
  • द्वितीय काल में दालों के उत्पादन एवं उत्पादकता में भी वृद्धि देखने को मिली।
  • अन्य फसलों के उत्पादन एव उत्पादकता में वृद्धि हुई (केवल ज्वार को छोड़कर) । में
  • विभिन्न फसलों के मध्य आय अंतर में कमी आई।
  • द्वितीय काल में गेहूं की उत्पादन व उत्पादकता वृद्धि दर में सुस्ती आई है।

 

😀 😃नीचे में CG vyapam ADEO का पूरा सिलेबस दिया गया है इन्हे भी पढ़े😀 😃 👇

आजीविका

1.अर्थव्यस्था में कृषि की भूमिकाक्लिक करे
2.हरित क्रांतिक्लिक करे
3.कृषि में यंत्रीकरणक्लिक करे
4.कृषि सम्बन्धी महत्वपूर्ण जानकारियाक्लिक करे
5.कृषि सम्बंधित महत्वपूर्ण योजनाएक्लिक करे
6.राज्य के जैविक ब्रांडक्लिक करे
7.शवेत क्रांतिक्लिक करे
8.राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशनक्लिक करे
9.दीनदयाल उपाध्याय राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बिहानक्लिक करे
10.दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौसल योजनाक्लिक करे
11.आजीविका एवं ग्रामोद्योगक्लिक करे
12.ग्रामोद्योग विकास के लिए छत्तीसगढ़ शासन के प्रयत्नक्लिक करे
13.संस्थागत विकास- Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Downloadक्लिक करे
15.आजीविका हेतु परियोजना प्रबंध सहकारिता एवं बैंकक्लिक करे
16.राज्य में सहकारिताक्लिक करे
17.सहकारी विपरणक्लिक करे
18.भारत में बैंकिंगक्लिक करे
19.सहकारी बैंको की संरचनाक्लिक करे
20.बाजारक्लिक करे
21.पशु धन उत्पाद तथा प्रबंधक्लिक करे
22.छत्तीसगढ़ में पशु पालनक्लिक करे
23.पशु आहारक्लिक करे
24.पशुओ में रोग-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Downloadक्लिक करे
25.मतस्य पालनक्लिक करे

 

ग्रामीण विकास की फ्लैगशिप योजनाओ की जानकारी

1.महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजनाक्लिक करे
2.महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम की विशेषताएंक्लिक करे
3.सुराजी गांव योजनाक्लिक करे
4.स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजनाक्लिक करे
5.इंदिरा आवास योजना-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Downloadक्लिक करे
6.प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण)क्लिक करे
7.प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजनाक्लिक करे
8.मुख्यमंत्री ग्राम सड़क एवं विकास योजनाक्लिक करे
9.मुख्यमंत्री ग्राम गौरव पथ योजनाक्लिक करे
10.श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशनक्लिक करे
11.अटल खेतिहर मजदूर बीमा योजनाक्लिक करे
12.आम  आदमी बिमा योजनाक्लिक करे
12.स्वच्छ भारत अभियान (ग्रामीण)क्लिक करे
13.सांसद आदर्श ग्राम योजनाक्लिक करे
14.विधायक आदर्श ग्राम योजनाक्लिक करे
17.पंचायत एवं समाज कल्याण विभाग की योजनाएक्लिक करे
19.निशक्त जनो के लिए योजनाएक्लिक करे
20..सामाजिक अंकेक्षण-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Downloadक्लिक करे
21.ग्रामीण विकास योजनाए एवं बैंकक्लिक करे
22.सूचना का अधिकार अधिनियम 2005क्लिक करे
21.जलग्रहण प्रबंधन : उद्देश्य एवं योजनाएक्लिक करे
22.छत्तीसगढ़ में जलग्रहण प्रबंधनक्लिक करे
23.नीरांचल राष्ट्रीय वाटरशेड परियोजनाक्लिक करे

 

पंचायतरी राज व्यवस्था 

1.पंचायती राज व्यवस्थाक्लिक करे
2.73 वाँ संविधान संशोधन अधिनियम 1992 : सार-संक्षेपक्लिक करे
 3.73 वाँ संविधान संशोधन के प्रावधानक्लिक करे
4.छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियमक्लिक करे
5.छत्तीसगढ़ में पंचायती राज व्यवस्था से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
6.ग्राम सभा से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
6.अनुसूचित क्षेत्रों में पंचायतों के लिए विशिष्ट उपबंध  से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
7.पंचायत की स्थापना से सम्बंधित प्रश्न -Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Downloadक्लिक करे
8.पंचायतों के कामकाज -संचालन तथा सम्मिलन की प्रक्रिया से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
10.ग्राम पंचायत के कार्य से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
11.पंचायतों की स्थापना, बजट तथा लेखा से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
12.कराधान और दावों की वसूली से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
13.पंचायतो पर निर्वाचन का संचालन नियंत्रण एवं उपविधियाँ से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
16.शास्तियाँ-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Downloadक्लिक करे
17.14 वा वित्त आयोग से सम्बंधित प्रश्नक्लिक करे
18.15 वाँ वित्त आयोग क्या थाक्लिक करे

 

2 thoughts on “हरित क्रांति क्या है ? Harit Kranti Kya hai”

Leave a Comment