छत्तीसगढ़ का प्राकृतिक विभाजन | Chhattisgarh Ka Prakritik Vibhajan

दोस्तों आज हम आपको छत्तीसगढ़ का प्राकृतिक विभाजन के बारे में एक जबरजस्त लेख लेकर आए है जो काफी जबरजस्त है।

छत्तीसगढ़ का प्राकृतिक विभाजन

तथ्य पूर्वी
बघेलखण्ड
जशपुर सामरी पाट छ.ग का मैदान दंडकारण्य
क्षेत्रफल 21863(6.6%) 6208(4.59%) 68064(50.34%)      39060(28.91%)
संभाग सरगुजा सरगुजा
रायपुर + दुर्ग  
बस्तर
अन्य नाम  सरगुजा बेसिन  कन्हार बेसिन महानदी बेसिन     इन्द्रावती बेसिन
अक्षांशीय विस्तार 23’4 से 24’5″N 22”1 से 23’4″N 19’4”से 23’7″N.  17;4”से 20’3”
देशांतरीय विस्तार 80’5 से 81″2E  83’2“से 84’2E 80,7 से 83’5E    80;8“ से 82’5″E
भू-गार्भिक(शैल)  गोंडवाना  दक्कन ट्रेप कड़प्पा        धारवाड़ / ग्रेनाइट नीस
ढाल  उत्तर     दक्षिण पूर्व की ओर पूर्व की ओर    दक्षिण – पश्चिम की ओर
अपवाह तंत्र                      सोन, गंगा  अधिकांशत: महानदी महानदी   गोदावरी नदी
खनिज      कोयला       बॉक्साइट चूना, डोलोमाइट    लोहा, टीन, हीरा
मिट्टी          लाल पीली          लाल पीली+ लेटेराइट लाल पीली   लाल दोमट + लाल बलुई
फसल               मोटे अनाज एवं  तिलहन  बागवानी धान            धान,/कोदो कुटकी मोटा,अनाज    
वनक्षेत्र                      50 प्रतिशत  सबसे कम प्रतिशत    
वनस्पति             उष्णकटिबंधीय(सागौन वन)         उष्ण आर्द्र मानसूनी(मिश्रित वन) उष्ण आर्द्र मानसूनी(मिश्रित वन)  उष्ण शुष्क पर्णपाती वन आर्द्र पर्णपाती (साल वन)
जलवायु           उप-महांद्वीपीय       उप-महांद्वीपीय      उप-महाद्वीपीय.   उप-महाद्वीपीय
ऊँची  चोटी        देवगढ़ (1033 मी.)    गौरलाटा (1225मी.) बदरगढ़ (1176 मी)   बैलाडीला (1210 मी.)
औसत वर्षा      125 – 50 सेमी 172 सेमी. 125-150 सेमी.   167 सेमी(प्रतिशत में अबूझमाड़ )
तापमान     35’C लगभग  32’C लगभग
32’C लगभग   
35’C लगभग
जनजाति      उराव,/ कोल कोरवा/नगेशिया बिरहोर /उराव सौरा, बिझवार , धनवार        गोंड़, हलबा, माड़िया, मुड़िया,दण्डामी माड़िया
छत्तीसगढ़ का प्राकृतिक विभाजन

 

महानदी बेसिन/छ:ग का मैदान Mahandi Besin Chhattisgarh Ka Maidan

  • छत्तीसगढ़  का सबसे बड़ा प्राकृतिक प्रदेश है महानदी बेसिन ।
  • महानदी बेसिन को ही छत्तीसगढ़ का ह्रदय स्थल कहते है ।
  • महानदी बेसिन में छत्तीसगढ़ की आधी आबादी निवास करती है ।
  • महानदी बेसिन छत्तीसगढ़ का सबसे विकसित क्षेत्र है ।

शामिल जिले:-

  1. राजनांदगाव
  2. दुर्ग
  3. बेमेतरा
  4. बालोद
  5. गरियाबंद
  6. रायपुर
  7. बलौदाबाजार
  8. धमतरी
  9. कवर्धा
  10. मुंगेली
  11. बिलासपुर
  12. जजंगीर चंपा
  13. रायगढ़
  14. महासमुंद
  15. कोरबा

यानि इसमें लगभग पूरा बिलासपुर , रायपुर , दुर्ग समभंग आता है ।  नोट :- इन में मोहला और मानपुर तहसील को छोड़कर ।

क्षेत्रफल 
  • 68064 वर्ग किमी
निर्माण 
  • करप्पा चट्टानों से ( पंखाकार आकृति में )
 ढाल
  • पूर्व की ओर
खनिज 
  • चुना ,पत्थर, डोलोमाइट, सोना, हिरा
फसल 
  • धान ,गेहू ,गन्ना, अदि
वन 
  • मिश्रित वन
वर्षा 
  • 125 सेमी ( लगबग )
कम वर्षा 
  • कवर्धा व बेमेतरा ( वृष्टि छाया क्षेत्र )
  • छत्तीसगढ़ में सबसे कम वर्षा वाला जिला कवर्धा
अपवाह तंत्र 
  • महानदी
जलवायु 
  • उष्ण कटिबंधीय मानसूनी जलवायु
गर्म स्थान 
  • चाम्पा
जनसँख्या घनत्वा 
  • सर्वाधिक

पर्वत 

मैकाल श्रेणी 

ऊँची चोटी

कवर्धा , राजनांदगाव , मुंगेली ।

बदरगढ़, ( लीलवानी  ) 1176 मी।

पेंड्रा-लोरमी पर्वत 

ऊँची चोटी

बिलासपुर , मुंगेली ।

पलामा चोटी  1080 मी ।

शिशुपाल पर्वत 

ऊँची चोटी

महासमुंद ।

धारी डोंगरी 899 मी ।

डोंगरगढ़ पर्वत    ऊंचाई 404 मी ।
दहला पर्वत  ऊंचाई 760 मी ।
लाफागढ़ पर्वत  ऊंचाई 1048 मी ।
सिहावा पर्वत  ऊंचाई 454 मी ।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

इन्हे भी जरूर पढ़े :-

👉जिंदल रायगढ़ छत्तीसगढ़

👉कांकेर जिला छत्तीसगढ़

👉लक्ष्मण झूला रायपुर छत्तीसगढ़

👉छत्तीसगढ़ के पहाड़ो की ऊंचाई

👉छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण तिथि क्रम 

👉छत्तीसगढ़ शासन के विभिन्‍न भवनों के नाम 

Leave a Reply