अइरसा अनरसा | Airasa Anrasa Chhattisgarhi food

अइरसा/अनरसा Airasa Anrasa – Chhattisgarhi food

अइरसा एक लोकप्रिय छत्तीसगढ़ी व्यंजन है। यह स्वाद में मीठा होता है। इसे छत्तीसगढ़ी त्यौहारों और पर्वों के अवसर पर बड़े ही चाव के साथ खाया जाता है।
सामग्री:-
1.चावल
2.शक्कर
3.दूध
4.तिल
5.देशी घी
विधि:-
1.चावल के अनरसे बनाने के लिए सबसे पहले आप चावल को साफ करके धो लें और फिर उन्हें 3 दिनों के लिए भिगो दें । लेकिन चावलों को भिगोते समय इस बात का ध्यान रखें कि हर 24 घंटे के बाद आपको इनका पानी बदलना हैं ।
2.3 दिन के बाद चावलों को एक बार और धो लें और फिर उनका पानी निकाल कर उन्हें किसी छायादार जगह पर सूती कपड़े के ऊपर फैला दें । जब चावलों का सारा पानी सूख जाए लेकिन वे नम बने रहें तो उन्हें मिक्सर में पीसकर छान लें ।
3.अब एक बाउल में चावल का आटा , शक्कर का पाउडर , दूध और घी को आपस में मिला लें और थोड़ा सा सख्त आटा गूंध लें । अगर जरूरत पड़े तो इसमें थोड़ा सा पानी भी मिला सकते हैं ।
4.आटे को अच्छी तरह से गूंधने के बाद इसे गीले कपड़े से ढ़क कर 12 घंटे के लिए रख दें ।
5.अब आटे की छोटी – छोटी लोई बना लें और दोनों हाथों की हथेली से थोडा सा चपता कर लें और फिर इन्हें तिल के ऊपर रख कर घुमा लें जिससे कि उनके चारों और तिल लिपट जाए और इसके बाद एक कढ़ाही में घी गर्म करें ।
6.घी गर्म होने पर गैस को मीडियम कर दें और उसमें अनरसे को डाल कर अलट – पलट कर गोल्डन ब्राउन होने तक तल लें ।
7.लीजिएगा अब आपकी अनरसे की स्वादिष्ट मिठाई बनकर तैयार है चाहें तो आप इन्हें गरमागर्म खाएं और चाहें तो एयर टाइट पर्तन में रख कर 15 दिनों तक इस्तेमाल करें ।

Leave a Reply