राजनांदगांव : कलेक्टर के निर्देश पर राजनांदगांव शहर के 51 वार्डो में सर्विलेंस टीम घर-घर जाकर ले रही स्वास्थ्य की जानकारी

Rate this post

– शहर में 17 हजार 421 परिवारों का किया गया सर्वे, कोविड जांच में मिले 25 पॉजिटिव

– संक्रमित मरीजों को दवाई उपलब्ध कराकर तत्काल किया जा रहा उपचार

– नागरिकों को कोविड संक्रमण से बचाव एवं कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने किया जा रहा जागरूक

राजनांदगांव 11 जनवरी 2022

कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा के निर्देशानुसार कोविड-19 के नए वेरिएन्ट ओमिक्रॉन के नियंत्रण और संक्रमित मरीजों के ईलाज के लिए लगातार कार्य किए जा रहे हैं। कोरोना संक्रमित मरीज और उनके संपर्क में आए व्यक्तियों की पहचान एवं कान्टेक्ट ट्रेसिंग के लिए सर्विलेंस टीम एक्टिव किया गया है। राजनांदगांव नगर निगम क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए 51 वार्डों के लिए 51 सर्विलेंस टीम का गठन किया गया है। जो घर-घर जाकर नागरिकों के स्वास्थ्य की जानकारी ले रहीं हंै। वहीं सर्दी, खांसी, बुखार लक्षण वाले नागरिकों का सेम्पल लेकर कोविड जांच किया जा रहा है। नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत आज 2 हजार 182 परिवारों की जांच की गई। जिसमें 74 सर्दी, खांसी व बुखार के लक्षण वाले नागरिक पाए गए।  जांच के दौरान 9 कोविड संक्रमित मरीजों की पहचान की गई। संक्रमित मरीजों को तत्काल होम आईसोलेट कर उपचार किया जा रहा है। इस दौरान उन्हें दवाईयां उपलब्ध कराई गई है तथा स्वास्थ्य संबंधी परेशानी होने पर कोविड-19 कंट्रोल रूम नंबर 74402-03333 में संपर्क करने कहा गया। राजनांदगांव नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत अब तक 17 हजार 421 परिवारों का सर्वे किया जा चुका है। जिसमें 533 नागरिकों में सर्दी, खांसी व बुखार के लक्षण पाए गए। कोविड जांच में 25 नागरिक पॉजिटिव आए हंै। जिनका तत्काल उपचार प्रारंभ किया गया।

राजनांदगांव शहर में एक्टिव सर्विलेंस टीम द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव के संबंध में आवश्यक जानकारी दी जा रही है। नागरिकों की सुरक्षा और जागरूकता के लिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने के लिए संदेश दिया जा रहा है। कोरोना संक्रमित मरीजों की हर संभव सहायता उलब्ध कराने व समन्वय के काम में यह टीम जुटी है। नियुक्त कर्मचारियों द्वारा लोगों को प्रेरित कर संपर्क में आए हर व्यक्ति की जानकारी देकर कोरोना संक्रमण रोकने में अपनी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी निभाने की अपील की जा रही है।

Leave a Reply