इंद्रावती नदी अपवाह तंत्र | Indrawati Nadi Apwah Tantra Chhattisgarh

इंद्रावती नदी अपवाह तंत्र Indrawati Nadi Apwah Tantra Chhattisgarh

इंद्रावती नदी अपवाह तंत्र:-

उद्गम :- मुंगेर की पहाड़ी कालाहांडी ( ओडिशा )

लम्बाई :- 264Km

विसर्जन :- भद्रकाली के पास गोदावरी नदी

विशेष :-

1.बस्तर की जीवन रसखा नदी है

2.इसका प्राचीन नाम मन्दाकिनी है

परियोजनाएँ :-

->बोध घाट परियोजना

->विश्व बैंक बोध घाट परियोजना से 350 करोड़ वापस ले लिया है


इंद्रावती नदी की उत्तर की सहायक नदिया 

नारंगी नदी उद्गम :- मकड़ी ( कोंडागांव )

विसर्जन :- इंद्रावती नदी

बोर्डिंग नदी उद्गम :- केशकाल घाटी ( कोंडागांव )

विसर्जन :- इंद्रावती नदी

गुडरा नदी उद्गम :- नारायणपुर

विसर्जन :- इंद्रावती नदी

निबरा नदी उद्गम :- नारायणपुर

विसर्जन :- इंद्रावती नदी

कोटरी नदी उद्गम :- मोहला मानपुर ( राजनांदगाव )

विसर्जन :- 135KM

विसर्जन :- इंद्रावती नदी

विशेष :- इंद्रावती की सबसे बड़ी सहायक नदी ।

परियोजना :- परलकोट डेम ( गेंद सिंह  परियोजना )


छत्तीसगढ़ के नदियों की लम्बाई

महानदी  286
शिवनाथ  290
इंद्रावती  264
ईब 202
हसदेव  176
शबरी  173
मांड 155
रिहन्द  145
कोटरी  135
लीलागर 135
मनियारी  134
कनहर  116
अरपा  100
पैरी  90
जोंक  90
खारुन  84
तांदुला  64


इंद्रावती नदी की दक्षिण की सहायक नदिया 

शंखिनी नदी  उद्गम :- नंदिराज बैलाडीला ( दंतेवाड़ा )

विषर्जन :- डंकिनी नदी

विशेष :- शांखिनी , डंकिनी नदी का पानी रक्ताभ लाल है ।

छत्तीसगढ़ की सबसे गन्दा प्रदूषित नदी है ।

डंकिनी नदी  उद्गम :- डाँगीरी पहाड़ी ( दंतेवाड़ा )

विषर्जन :- शंखिनी नदी , में फिर

तालपेरु नदी  उद्गम :- बीजापुर

विषर्जन :- इंद्रावती नदी

चिन्ताबाबू नदी  उद्गम :- बीजापुर

विषर्जन :- इंद्रावती नदी

शबरी नदी  उद्गम :- कोरपुट ( ओडिशा )

लम्बाई :- 173KM

विषर्जन :- गोदावरी नदी

सहायक नदी :- कांगेर व मलेंगार नदी

->कांकेर नदी की सहायक नदी मुड़गाबहार नदी है ।

विशेष :- जल परियोजना कोंटा बन्दरगाह स्थित है ।

-> कांगेर नदी में भैसदारः में मगरमच्छ का संरक्षण किया जा रहा है ।

इन्हे जरूर पढ़े :-

👉सोन नदी की सहायक नदिया

👉शिवनाथ नदी अपवाह तंत्र छत्तीसगढ़ 

👉महानदी अपवाह तंत्र छत्तीसगढ़

👉छत्तीसगढ़ में जीवो का संरक्षण

👉छत्तीसगढ़ वन संसाधन 

 

Leave a Reply