छत्तीसगढ़ में लौह अयस्क कहा कहा पाया जाता है | Chattishgadh Me Lauh Ayaska Kahan Kahan Paya Jata Hai

छत्तीसगढ़ में लौह अयस्क कहा कहा पाया जाता है | Chattishgadh Me Lauh Ayaska Kahan Kahan Paya Jata Hai

  1. कुल खनिज राजस्व का 823 करोड़ रुपये लोहा से प्राप्त होता है .
  2. दूसरे नंबर का राजस्व प्रतप्त होता हिअ । ( प्रथम कोयला )
  3. लोहा दक्षिण भाग में मिलता है ।
  4. लोहा धारवाड़ छत्तं में मिलता है ।
  5. छत्तीसगढ़ का लोहा हेमेटाइट प्रकार का है ।
  6. लोहा का उत्पादन 15.77% होता है ।
  7. लोहा का भण्डारण 19.59% है ।
  8. भारत का सबसे बड़ा मशीनीकृत लोहा खदान बैलाडीला , दंतेवाड़ा है ।
  9. लोहा का खनन NMDC  द्वार किया जा रहा है ।
  10. बैलाडीला के लोहा को जापान द्वारा विशाखापत्तनम के बंदरगाह से जापान ले जाया जा रहा है ।
  11. प्रथम खनन संयत्र :- किरंदुल ( 1968 )
  12. द्वितीय खनन संयत्र :- बचेली ( 1980 )
  13. तृतीया खनन संयत्र :- बैलाडीला ( 1988 )
  14. बैलाडीला में 14 डिवीज़न लगा हुआ है । 
भारत में  छत्तीसगढ़ में 
क्रमांक  भण्डारण  उत्पादन क्रमांक  भण्डारण  उत्पादन 
1. झारखण्ड कर्णाटक 1. दंतेवाड़ा दंतेवाड़ा
2. ओडिशा छत्तीसगढ़ 2. कांकेर बालोद
3. छत्तीसगढ़ ओडिशा 3. कवर्धा कांकेर


छत्तीसगढ़ के इन जिलों में सर्वाधिक कोयला पाया जाता है 

  • दंतेवाड़ा :- किरंदुल , बचेली , बैलाडीला 
  • नारायणपुर :- छोटे डोंगरे 
  • कांकेर :- राजघाट , आरी डोंगरी , कॉलमसार , मेटा बदले 
  • राजनांदगाव :- बोरिया टिब्बू 
  • कवर्धा :- एकलमा 
  • बालोद :- दल्ली राजहरा , डौंडी ( डौंडी लोहरा नहीं )

    इन्हे भी जरूर पढ़े :-

👉Coronavirus Live Update Chhattisgarh | Covid-19 Live Cases Chhattisgarh

👉दीवानपटपर गांव कवर्धा छत्तीसगढ़

👉दाऊ दुलार सिंह मंदराजी

👉छत्तीसगढ़ पदमश्री पदमभूषण 

👉छत्तीसगढ़ी कलेवा व्यंजन पकवान भोजन

Leave a Reply