छत्तीसगढ़ के खेल पुरस्कार | Chhattisgarh Ke Khel Puraskar

छत्तीसगढ़ के खेल पुरस्कार का इतिहास | Chhattisgarh Ke Khel Puraskar Ka Itihas गुण्डाधूर पुरस्कार :- यह पुरस्कार उत्कृष्ट खेल प्रदर्शन के लिए दिया जाता है।  राशि 2.50 लाख  प्रथम पुरस्कार आशीष अरोरा बॉलीबाल को दिया गया था। शहीद राजीव पाण्डे पुरस्कार :- (सीनियर) यह पुरस्कार सीनियर खिलाड़ी को दिया …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ के खेल पुरस्कार | Chhattisgarh Ke Khel Puraskar

केंद्र संरक्षित स्मारक छत्तीसगढ़ | Kendra Sanrakshit Smarak Chhattisgarh

केंद्र संरक्षित स्मारक छत्तीसगढ़ | Kendra Sanrakshit Smarak Chhattisgarh  केंद्र संरक्षित स्मारक छत्तीसगढ़ क्रमांक  स्मारक  स्थान  जिला  1. चन्द्रादित्य मंदिर बारसूर दंतेवाड़ा 2. गणेश प्रतिमा बारसूर दंतेवाड़ा 3. मामा भांजा का मंदिर दंतेवाड़ा दंतेवाड़ा 4. दंतेश्वरी मंदिर में रखी प्राचीन प्रतिमाये बस्तर जगदलपुर 5. महादेव मंदिर भैरमगढ़ बीजापुर 6. भैरमदेव …

आगे पढ़े केंद्र संरक्षित स्मारक छत्तीसगढ़ | Kendra Sanrakshit Smarak Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ में जंगल सत्याग्रह | Chhattisgarh Me Jungle Satyagraha | Chhattisgarh Me Jungle Vidroh

छत्तीसगढ़ में जंगल सत्याग्रह | Chhattisgarh Me Jungle Satyagraha | Chhattisgarh Me Jungle Vidroh छत्तीसगढ़ के जंगल सत्याग्रह छत्तीसगढ़ में जंगल सत्याग्रह सविनय अवज्ञा आंदोलन का हिस्सा था। रूद्री नवागाँव (1930) :- स्थान > धमतरी  नेतृत्व > 1. छोटेलाल श्रीवास्तव 2. नत्थूजी जगताप गट्टा सिल्ली (1930) :- स्थान > ठेभली …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ में जंगल सत्याग्रह | Chhattisgarh Me Jungle Satyagraha | Chhattisgarh Me Jungle Vidroh

छत्तीसगढ़ की चित्रकला | Chhattisgarh Ki Chitrakala | Folk Paintings of chhattisgarh

छछत्तीसगढ़ की चित्रकला | Chhattisgarh Ki Chitrakala | Paintings of  Chhattisgarh छत्तीसगढ़ की चित्रकारी चित्रकला   चित्रकारी/चित्रकला  विस्तृत जानकारी  चौक पुरना गोबर की लिपाई के ऊपर चावल के आटे से विभिन्न प्रकार से चित्र बनाना। हरितालिका हरितालिका शिव-पार्वती की पूजा का पर्व है। हरितालिका का अंकन तीज के दिन बनाया …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ की चित्रकला | Chhattisgarh Ki Chitrakala | Folk Paintings of chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के त्यौहार | Chhattisgarh ke Tyohar | Festivals of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के त्यौहार Chhattisgarh Ke Tyohar Festivals of Chhattisgarh छत्तीसगढ़ के त्यौहार को समझने जानने के लिए हमें सबसे पहले जानना होगा की पक्ष क्या होते है ? तो भाई हमारे हिन्दू धर्म में पक्ष दो प्रकार के होते है , पहला होता है कृष्ण पक्ष इस दिन अमावस्या होता …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ के त्यौहार | Chhattisgarh ke Tyohar | Festivals of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ का लोकनृत्य लोकनाट्य | Chhattisgarh Ka Loknritya Loknatya | Folk Dance of Chhattisgarh | Folk Drama of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ का लोकनृत्य लोकनाट्य | Chhattisgarh Ka Loknritya Loknatya छत्तीसगढ़ का लोकनाट्य  छत्तीसगढ़ का लोक नाट्य छ.ग. मे सर्वप्रथम नुक्कड़ नाटक की परम्परा विमु कुमार ने शुरू किया। हमारे लोक नाट्य की भाषा छत्तीसगढ़ी होती है। लोक नाट्य के सभी पात्र पुरूष होते है। यह लोक नाट्य मंचन से होता …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ का लोकनृत्य लोकनाट्य | Chhattisgarh Ka Loknritya Loknatya | Folk Dance of Chhattisgarh | Folk Drama of Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के लोकगीत | Chhattisgarh ke Lokgeet | Chhattisgarh folk song

छत्तीसगढ़ के लोकगीत | Chhattisgarh ke Lokgeet | Chhattisgarh folk song लोक कलाएं संस्कृति की संवाहक होती है। लोक कलाओं में किसी घटना के माध्यम से इतिहास व संस्कृति के दर्शन होते है । लोक कलाएँ लोक मानस की मूल भावनाओं को प्रदर्शित करता है। संगीत शिखर पुरुष विष्णु कृष्ण …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ के लोकगीत | Chhattisgarh ke Lokgeet | Chhattisgarh folk song

छत्तीसगढ़ के देवी देवता | Chhattisgarh Ke Devi Devta | Deities of chhattisgarh

छत्तीसगढ़ के देवी देवता | Chhattisgarh Ke Devi Devta | Deities of chhattisgarh छत्तीसगढ़ के देवी-देवता चूरापाट  बेर वृक्ष में चूड़ी-फुंदरी बाँधा जाता है। ठाकुर देव  प्रत्येक गाँव में ग्राम देवता का प्रतीक है। संहाड़ा देव  1.बैल आकार की मूर्ति जिसकी पूजा की जाती है। 2.प्रथम बार जनी गाय व …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ के देवी देवता | Chhattisgarh Ke Devi Devta | Deities of chhattisgarh

छत्तीसगढ़ जनजाति विवाह गीत | Chhattisgarh Janjati Vivah Geet

जनजातीय विवाह  जनजातीय गोत्र बहिर्विवाह  का पालन करते है । एकल विवाह ( मोनोगेमि ) बहुविवाह ( पोलोगेमी ) दोनों मान्य है । सह गोत्री विवाह नहीं किया जाता है । क्र विवाह  जनजाति  महत्वा  1. पयसोतूर/ अपहरण गोंड लड़कियों  का अपहरण करके विवाह किया जाता है । 2. लमसेन …

आगे पढ़े छत्तीसगढ़ जनजाति विवाह गीत | Chhattisgarh Janjati Vivah Geet

मुरिया मुड़िया विद्रोह छत्तीसगढ़ | Muriya Vidroh | Mudiya Vidroh Chhattisgarh

मुरिया मुड़िया विद्रोह छत्तीसगढ़ | Muriya Vidroh | Mudiya Vidroh Chhattisgarh मुरिया/माड़िया विदोर्ह या फिर कहे की मुरिया संघर्ष 1876  को बस्तर ,बीजापुर में हुआ था । इसके शासक भैरम देव राजपूत   जी थे । इस विद्रोह के नेतृत्वकर्ता  झारा सिरहा  जी ही थे । इन सभी लोगो और …

आगे पढ़े मुरिया मुड़िया विद्रोह छत्तीसगढ़ | Muriya Vidroh | Mudiya Vidroh Chhattisgarh