बाबा सत्यनारायण धाम रायगढ | Baba Satyanarayan Dham Chhattisgarh

मेरे प्यारे दोस्तों आज हम आपको बाबा सत्यनारायण रायगढकी जानकारी देने वाले है। यहाँ जानकारी आपको छत्तीसगढ़ के किसी भी परीक्षा में पूछे जा सकते है , या आप किसी चीज के बारे में रिसर्च करना चाहते है, या आप फिर छत्तीसगढ़ में घूमना चाहते है तो यहाँ जानकारी आपके बहुत ही काम आएगी। इसलिए आप इस लेख को ध्यान से पढ़े और अपनी राय दे।

 बाबा सत्यनारायण धाम रायगढ | Baba Satyanarayan Dham Chhattisgarh

हिन्दू शास्त्रों में ऋषि मुनियों की 15-20 साल जंगलो, पहाड़ों और कंदराओं में कठोर तपस्या का वर्णन मिलता है। साधारण तौर पर इसे लोग इसे काल्पनिक कथा कहानियां ही समझते है पर छतीसगढ़ के लोग नही।

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिला मुख्यालय में 16 फरवरी 1998 से तपस्या में लीन बाबा सत्यनारायण को यह हठ योग करते 19 वर्ष बीत गए।

रायगढ़ में गर्मी के मौषम में तापमान 49 डिग्री तक पहुँचता है। ऐसे गर्म मौषम सहित भीषण ठंड और भरी बरसात में बिना छत के हठ योग में विराजे बाबाजी का दर्शन कर लेना ही अपने आप मे सम्पूर्ण तीर्थ है।

कोसमनारा से 19 किलोमीटर दूर देवरी, डूमरपाली में एक साधारण किसान दयानिधि साहू एवं हँसमती साहू के परिवार में 12 जुलाई 1984 को अवतरित हुए बाबाजी बचपन से ही आध्यात्मिक बालक थे।

एक बार गांव के ही तालाब के बगल में स्थित शिव मंदिर में वो लगातार 7 दिनों तक तपस्या करते रहे। मॉ बाप और गांव वालों की समझाइश पर वो घर लौटे तो जरूर मगर एक तरह से स्वयम शिव उनके भीतर विराज चुके थे।

14 साल की उम्र में एक दिन वे स्कूल के लिए बस्ता ले कर निकले मगर स्कूल नही गए। बाबाजी सफेद शर्ट और खाकी हाफ पैंट के स्कूल ड्रेस में ही रायगढ़ की ओर रवाना हो गए। अपने गांव से 19 किलोमीटर दूर और रायगढ़ से सट कर स्थित कोसमनारा वो पैदल ही पहुचे।

कोसमनारा गांव से कुछ दूर पर एक बंजर जमीन में उन्होंने कुछ पत्थरो को इकट्ठा कर शिवलिंग का रूप दिया और अपनी जीभ काट कर समर्पित कर दी। कुछ दिन तक तो किसी को पता नही चला मगर फिर जंगल मे आग की तरह खबर फैलती चली गई और लोगो का हुजूम वहां पहुचने लगा।

कुछ लोगो ने बालक बाबा की निगरानी भी की मगर बाबा जी तपस्या में जो लीन हुए तो आज तक उसी जगह पर हठ योग में लीन है। मां बाप ने बचपन मे नाम दिया था हलधर… पिता प्यार से सत्यम कह कर बुलाते थे। उनके हठयोग को देख लोगो ने नाम दिया बाबा सत्य नारायण..।

बाबा बात नही करते .. मगर जब ध्यान तोड़ते हैं तो भक्तों से इशारे में ही संवाद कर लेते है। रायगढ़ की धरा को तीर्थ स्थल बनाने वाले बाबा सत्यनारायण के दर्शन करने वाले भक्तों के लिए अब कोसमनारा में लगभग हर व्यवस्था है किंतु बाबा ने खुद के सर पर छांव करने से भी मना किया हुआ है। आज भी बाबा जी का कठोर तप जारी है….

कृपया यह पोस्ट अधिक से अधिक शेयर करें ताकि सभी लोगों को इसकी जानकारी प्राप्त हो सके !!

इन्हे भी जरूर पढ़े :-

👉खारुन नदी छत्तीसगढ़ 

👉मरीन ड्राइव तेलीबांधा तालाब

👉नगर घड़ी चौक रायपुर

👉राजकुमार कालेज रायपुर

👉डोंगरगढ छत्तीसगढ़

||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||

दोस्तों हो सकता है की इसमें कुछ गलतिया हो सकती है तो आप नीचे Comment में जरूर बताये , साथ ही साथ आप अपने सुझाव भी हमें दे सकते है। दोस्तों आप हमें Facebook, Youtube, Twitter , Linkedin पर भी फॉलो कर सकते है। 

दोस्तों हमारी इस Website Iamchhattisgarh.in पर अगर आप पहली बार आये है तो मै आपको बता देना चाहूंगा की , हमारी इस वेबसाइट पर आपको छत्तीसगढ़ से सम्बंधित सभी जानकारिया जैसे की छत्तीसगढ़ स्थानों, पर्यटन, मंदिरों, इतिहास, अभिलेखागार स्थानों, नदियों और हर वो जानकारी जो हमारे छत्तीसगढ़ से सम्बंधित हो ।

दोस्तों हम धीरे-धीरे  कोशिश करेंगे की जैसे ही छत्तीसगढ़ का Topic ख़त्म हो जाये तो हम इस में पूरा भारत , विश्व, संविधान , इतिहास  सभी जानकारिया आपके लिए लिखेंगे । जो आगे आपको बहुत काम आएगी । 

आप हमारे इस वेबसाइट पर हर तरह की जानकारियों को काटेगोरिएस वाइज पढ़ सकते है:-

Chhattisgarh Tourism :- इसमें आपको हर वो जानकारी दी जाएगी जहा पर आपको छत्तीसगढ़ में घूमने जरूर जाना चाहिए । इसमें वे सभी स्थल होंगे जहा पर आप अपने छुटियो में अपने परिवार सहित घुमने जरूर जाये ,और दुसरो को भी इन जगहों के बारे में बताये की वे भी घूमने जाये , ताकि हमारे राज्य की  इनकम बढ़ सके । 

Chhattisgarh Temples :- छत्तीसगढ़ के सभी मंदिरो के बारे में जानकारिया आपको इस Category में मिल जाएगी ,पुरे छत्तीसगढ़ के एक-एक मंदिर चाहे वो कोई छोटा से छोटा मंदिर हो या बड़ा से बड़ा हमसे नहीं बच सकता ( मजाक था ) है । 

Chhattisgarh History :- छत्तीसगढ़ के वे अनसुने इतिहास जिसे अपने नहीं पढ़ा या नहीं सुना । इसकी सम्पूर्ण जानकारी आपको इसी में मिल जाएगी । 

Chhattisgarh Archelogy :- इसमें हम आपको छत्तीसगढ़ के पुरातत्तव की चीजे , पुराने महल , पुराने अभिलेख, आदि सभी चीजों की जानकारी आपको इस Category में मिलेगी। 

Chhattisgarh Wildlife: छत्तीसगढ़ के जंगल ,जीव , नदिया , तालाब , जलप्रपात , झील ,अदि सभी प्राकृतिक चीजों की जानकारी आपको इस Category में मिल जाएगी ।  

Leave a Reply