चंडी माता मंदिर छत्तीसगढ़ | Chandi Mata Mandir Chhattisgarh

मेरे प्यारे दोस्तों आज हम आपको “चंडी माता मंदिर छत्तीसगढ़ | Chandi Mata Mandir Chhattisgarhकी जानकारी देने वाले है। यहाँ जानकारी आपको छत्तीसगढ़ के किसी भी परीक्षा में पूछे जा सकते है , या आप किसी चीज के बारे में रिसर्च करना चाहते है, या आप फिर छत्तीसगढ़ में घूमना चाहते है तो यहाँ जानकारी आपके बहुत ही काम आएगी। इसलिए आप इस लेख को ध्यान से पढ़े और अपनी राय दे।

 चंडी माता मंदिर छत्तीसगढ़ | Chandi Mata Mandir Chhattisgarh

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 105 किलोमीटर दूर पहाड़ावाली चंडी माता का मंदिर घुंचापाली, बागबाहरा में स्थित है। यहां इस नवरात्र पर्व पर भक्तों की भीड़ उमड़ पड़ी है।

महासमुंद जिले में ज्यादातर देवी मंदिर पहाड़ियों पर दुर्गम स्थान पर हैं। घुंचापाली गांव की पहाड़ावाली तंत्रोक्त चंडी माता का मंदिर पहाड़ी में स्थित होते हुए भी सुगम है।

चट्टानों के बीच ढलाननुमा पहाड़ी में बच्चे-बड़े, बुजुर्ग और महिलाएं सभी आसानी से माता दरबार तक पहुंच सकते हैं। भक्त यहां पहुंचकर माता के भव्य स्वरूप का दर्शन कर रहे हैं।

आदिशक्ति जगदम्बा भवानी चंडी स्वरूप में यहां विराजित हैं। श्रद्घालुओं की ऐसी मान्यता है कि यह विशाल पत्थर की स्वयंभू मूर्ति निरंतर बढ़ रही है। इसके चलते मंदिर को कई बार तोड़ना पड़ा।

यहां इस समय क्वांर नवरात्र पर्व में भक्तों की लंबी कतार लग रही है। यह वही मंदिर है, जहां वर्षों से भालू आते हैं और माता को अर्पित प्रसाद ग्रहण करते हैं।

महासमुंद जिले में ज्यादातर देवी मंदिर पहाड़ों में स्थित हैं इनमें चंडी माता घुंचापाली के अलावा ऐतिहासिक खल्लारी माता मंदिर, नेशनल हाइवे-53 किनारे स्थित बावनकेरा का मुंगईमाता, पटेवा के पास स्थित पतईमाता और नवागांव के पास स्थित छछानमाता देवी मंदिर प्रमुख रूप से शामिल हैं।

इनमें खल्लारी, पतई और मुंगईमाता को रिश्ते में बहन माना जाता है। इन तीनों पहाड़ियों की दूरी इतनी है कि एक पहाड़ी पर चढ़कर दूसरी पहाड़ी को आसानी से देखा जा सकता है। ऐसी किवदंतियां भी हैं कि ये माताएं एक दूसरे को पर्व विशेष पर पुकारती हैं। यहां सच्चे मन से मन्नत लेकर आने वाले भक्तों की हर मुराद पूरी होती है।

घुंचापाली स्थित चंडी माता और बावनकेरा स्थित मुंगईमाता पहाड़ी में भक्तों को रोज भालू भी दिखते हैं। ये जंगली भालू यहां जन आस्था का केंद्र बने हुए हैं।

सैकड़ों भक्तों के बीच आने और हाथ से प्रसाद ग्रहण करने के बावजूद किसी को नुकसान नहीं पहुंचाने को लेकर लोग धार्मिक आस्था से जोड़कर देखते हैं। इसे दैवीय चमत्कार मानकर ग्रामीण और भक्त इन भालुओं की भी पूजा करने लगे हैं।

इन्हे भी पढ़े :-

👉 खरौद का शिवमंदिर : लक्ष्मण जी ने क्यों बनाये थे सवा लाख शिवलिंग ?

👉 जगननाथ मंदिर : चमत्कार ! पेड़ का हर पत्ता दोने के आकर का कैसे ?

👉 केशव नारायण मंदिर : भगवान विष्णु के पैर के नीचे स्त्री, शबरी की एक कहानी !

👉 नर-नारायण मंदिर : मेरु शिखर के जैसा बना मंदिर !

👉 राजीव लोचन मंदिर : कुम्भ से भी अनोखा है यहाँ का अर्धकुम्भ !

||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||

दोस्तों हो सकता है की इसमें कुछ गलतिया हो सकती है तो आप नीचे Comment में जरूर बताये , साथ ही साथ आप अपने सुझाव भी हमें दे सकते है। दोस्तों आप हमें Facebook, Youtube, Twitter , Linkedin पर भी फॉलो कर सकते है। 

दोस्तों हमारी इस Website Iamchhattisgarh.in पर अगर आप पहली बार आये है तो मै आपको बता देना चाहूंगा की , हमारी इस वेबसाइट पर आपको छत्तीसगढ़ से सम्बंधित सभी जानकारिया जैसे की छत्तीसगढ़ स्थानों, पर्यटन, मंदिरों, इतिहास, अभिलेखागार स्थानों, नदियों और हर वो जानकारी जो हमारे छत्तीसगढ़ से सम्बंधित हो ।

दोस्तों हम धीरे-धीरे  कोशिश करेंगे की जैसे ही छत्तीसगढ़ का Topic ख़त्म हो जाये तो हम इस में पूरा भारत , विश्व, संविधान , इतिहास  सभी जानकारिया आपके लिए लिखेंगे । जो आगे आपको बहुत काम आएगी । 

आप हमारे इस वेबसाइट पर हर तरह की जानकारियों को काटेगोरिएस वाइज पढ़ सकते है:-

Chhattisgarh Tourism :- इसमें आपको हर वो जानकारी दी जाएगी जहा पर आपको छत्तीसगढ़ में घूमने जरूर जाना चाहिए । इसमें वे सभी स्थल होंगे जहा पर आप अपने छुटियो में अपने परिवार सहित घुमने जरूर जाये ,और दुसरो को भी इन जगहों के बारे में बताये की वे भी घूमने जाये , ताकि हमारे राज्य की  इनकम बढ़ सके । 

Chhattisgarh Temples :- छत्तीसगढ़ के सभी मंदिरो के बारे में जानकारिया आपको इस Category में मिल जाएगी ,पुरे छत्तीसगढ़ के एक-एक मंदिर चाहे वो कोई छोटा से छोटा मंदिर हो या बड़ा से बड़ा हमसे नहीं बच सकता ( मजाक था ) है । 

Chhattisgarh History :- छत्तीसगढ़ के वे अनसुने इतिहास जिसे अपने नहीं पढ़ा या नहीं सुना । इसकी सम्पूर्ण जानकारी आपको इसी में मिल जाएगी । 

Chhattisgarh Archelogy :- इसमें हम आपको छत्तीसगढ़ के पुरातत्तव की चीजे , पुराने महल , पुराने अभिलेख, आदि सभी चीजों की जानकारी आपको इस Category में मिलेगी। 

Chhattisgarh Wildlife: छत्तीसगढ़ के जंगल ,जीव , नदिया , तालाब , जलप्रपात , झील ,अदि सभी प्राकृतिक चीजों की जानकारी आपको इस Category में मिल जाएगी ।  

 

Leave a Reply