राजनांदगांव: मुख्यमंत्री ने जिला प्रशासन द्वारा स्वसहायता समूह की महिलाओं की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए किए गए नवाचार की प्रशंसा की

– राजनांदगांव जिले के महिला समूहों द्वारा बनाई गई लगभग 22 हजार 480 राखियों का विक्रय ई-कॉमर्स के माध्यम किया गया

– वर्मी कम्पोस्ट की बिक्री भी ई-कॉमर्स पर करने की व्यवस्था की गई है, इससे महिला समूहों को नया बाजार मिलेगा

 

– रेडियोवार्ता लोकवाणी को डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम रामपुर के ग्रामवासी सहित जिले के सभी विकासखंडों में नागरिकों ने तन्मयतापूर्वक सुना

राजनांदगांव 10 अक्टूबर 2021: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियो वार्ता लोकवाणी की 22वीं कड़ी ‘जिला स्तर पर विशेष रणनीति से विकास की नई राह’ को आज डोंगरगांव विकासखंड के ग्राम रामपुर के ग्रामवासियों सहित जिले के सभी विकासखंडों में नागरिकों ने तन्मयतापूर्वक सुना। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजनांदगांव जिले में महिला स्वसहायता समूह की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा किए गए नवाचार की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि राजनांदगांव जिले के महिला समूहों द्वारा बनाई गई लगभग 22 हजार 480 राखियों का विक्रय ई-कॉमर्स के माध्यम से हुआ है।

वर्मी कम्पोस्ट की बिक्री भी ई-कॉमर्स पर करने की व्यवस्था की गई है, इससे महिला समूहों को नया बाजार मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा छŸाीसगढ़ में महिला स्व-सहायता समूहों को मजबूत करने के लिए अनेक कदम उठाएं गए हैं। हमारी बहनों ने भी रोजगार मूलक कार्यों में दिलचस्पी दिखाई है। साथ ही समूह की महिलाओं ने अनेक नवाचार किए हैं और अपने परिवार को स्वावलंबी बनाया है।

ग्राम मनगटा के त्रिअंबिका स्वसहायता समूह की मती रामेश्वरी साहू ने मुख्यमंत्री को बताया कि जिला प्रशासन द्वारा ग्रामीण महिलाओं की आय बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। वे स्वयं गौठान में वर्मी कम्पोस्ट के निर्माण सहित विभिन्न गतिविधियों से जुड़ी हैं। जिले के 28 समूहों की 50 दीदियों ने रक्षाबंधन पर्व पर धान, बीज, गेहूं, चावल, बांस की राखियों का निर्माण किया था। ई-कॉमर्स पर लगभग दो लाख 30 हजार से अधिक राशि की 25 हजार से अधिक राखियों का देश-विदेश में ऑनलाईन व ऑफलाईन विक्रय किया गया।

उन्होंने बताया कि हम लोगों द्वारा बनाई गई राखी राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष डॉ. किरणमयी नायक ने अमेजॉन से मंगाकर आपको बांधी थी। उन्होंने कहा कि हम लोग ग्रामीण क्षेत्र से हैं। हमारे द्वारा बनाई राखी पहनकर आपने हमारा मान-सम्मान बढ़ाया, इसके लिए बहुत-बहुत धन्यवाद। गौरतलब है कि जिला प्रशासन द्वारा समूह की महिलाओं की बेहतरी के लिए हरसंभव कार्य किए जा रहे हैं। कलेक्टर तारन प्रकाश सिन्हा के मार्गदर्शन में समूह की महिलाएं राखी निर्माण कर आर्थिक रूप से मजबूत बन रही है। छŸाीसगढ़ी संस्कृति को संजोए राजनांदगांव की हस्तनिर्मित राखियां लोकप्रिय रहीं और इनकी काफी मांग रही।

जनपद सीईओ लेखराम चन्द्रवंशी ने कहा कि लोकवाणी के माध्यम से आज सभी ग्रामवासियों को शासकीय योजनाओं के बारे में नई जानकारी मिली। सभी गरीब एवं जरूरतमंद शासन की योजना से अधिक से अधिक लाभान्वित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत हितग्राहियों का चिन्हांकन किया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार मूलक कार्यों को बढ़ावा दिया जा रहा है। गौठान के मां लक्ष्मी स्वसहायता समूह की मती प्रीति साहू ने बताया कि महिलाओं के रोजगार के लिए शासन द्वारा अच्छा कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बरगा के आरसेटी में सिलाई, कढ़ाई, अचार एवं मसाला निर्माण के लिए निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

हम भी प्रशिक्षण के लिए शीघ्र ही जाएंगे। उन्हांेने बताया कि अभी गौठान में वर्मी कम्पोस्ट का निर्माण कर रहे हैं। मती बसंती मानिकपुरी ने बताया कि वे नौ साक्षरता समिति से जुड़ी हैं और मध्यान्ह भोजन बनाने का कार्य कर रही हैं। इस अवसर पर सरपंच मती रत्ना बोरकर, उप सरपंच केवलराम सिन्हा, पंच देवकुमार साहू, गोर्वधन साहू, ग्राम समिति के अध्यक्ष बुधेराम साहू, विष्णुराम साहू एवं कीर्ति साहू, देवकुमारी ठाकुर, रत्ना साहू, यशोदा साहू एवं ग्रामवासी उपस्थित थे।

Leave a Reply