प्राचीन शिव मंदिर डमरू | Prachin Shiv Mandir Damroo Raipur chhattisgarh

Share your love
3.9/5 - (7votes)

मेरे प्यारे दोस्तों आज हम आपको प्राचीन शिव मंदिर,डमरू बलौदाबाजारकी जानकारी देने वाले है। यहाँ जानकारी आपको छत्तीसगढ़ के किसी भी परीक्षा में पूछे जा सकते है , या आप किसी चीज के बारे में रिसर्च करना चाहते है, या आप फिर छत्तीसगढ़ में घूमना चाहते है तो यहाँ जानकारी आपके बहुत ही काम आएगी। इसलिए आप इस लेख को ध्यान से पढ़े और अपनी राय दे।

प्राचीन शिव मंदिर,डमरू बलौदाबाजार | Prachin Shiv Mandir Damroo Raipur chhattisgarh

1.यह क्षतिग्रस्त प्राचीन शिवमंदिर बलौदाबाजार शहर के उतर पूर्व में 18 कीमो की दुरी पर डमरू नमक ग्राम में स्थित है 

2.गांव  के बहार  किनारे पर प्रस्तर निर्मित चबूतरे पर शिव-मंदिर स्थित है ।

3.यह स्मारक पूर्वाभिमुखी है । यह जर्जर स्थिति है । इसमें आमलक नहीं है और वर्तमान में इसका गर्भगृह रिक्त है ।

4.सिरविहीन नन्दी मंदिर के पीछे एवं जलाधारी ( योनिपीठ ) मंदिर के सामने रखे है ।

5.इस मंदिर के अतिरिक्त परिसर में दो लघु टीले सामने विधमान है ।

6.पूर्व में इस स्थल पर उत्खनित त्रिविक्रम , विष्णु , सूर्य  , शिव , ब्रह्मा  , याम चौंदा , पार्वती , अम्बिका , चवरधारिणी की प्रतिमाये और कुछ मिथुन प्रतिमाये शिव मंदिर परिसर में ही नवनिर्मित महामाया देवी के मंदिर की भित्तियों  में जड़ी है ।

7.उक्त प्राचीन कलचुरिन्कालीन ( काल लगभग 12 वी सदी ईस्वी ) है जो समकालीन वास्तु शिल्प एवं मूर्तिविधा का अच्छा उदहारण है । यहाँ पर प्राप्त प्रतिमाये पुरातत्वीय दृस्टि से महत्वपूर्ण है ।

इन्हे भी पढ़े :-

👉 प्राचीन ईंटों निर्मित मंदिर : ग्रामीणों को क्यों बनाना पड़ा शिवलिंग ?

👉 चितावरी देवी मंदिर  : शिव मंदिर को क्यों बनाया गया देवी मंदिर ?

👉 शिव मदिर : बाली और सुग्रीव का युद्ध करता हुआ अनोखा मंदिर !

👉 सिद्धेश्वर मंदिर : आखिर त्रिदेव क्यों विराजमान है इस मंदिर पर ?

👉 मावली माता मंदिर : महिसासुर मर्दिनी कैसे बन गयी मावली माता ?

|||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||||

दोस्तों हो सकता है की इसमें कुछ गलतिया हो सकती है तो आप नीचे Comment में जरूर बताये , साथ ही साथ आप अपने सुझाव भी हमें दे सकते है। दोस्तों आप हमें Facebook, Youtube, Twitter , Linkedin पर भी फॉलो कर सकते है। 

दोस्तों हमारी इस Website Iamchhattisgarh.in पर अगर आप पहली बार आये है तो मै आपको बता देना चाहूंगा की , हमारी इस वेबसाइट पर आपको छत्तीसगढ़ से सम्बंधित सभी जानकारिया जैसे की छत्तीसगढ़ स्थानों, पर्यटन, मंदिरों, इतिहास, अभिलेखागार स्थानों, नदियों और हर वो जानकारी जो हमारे छत्तीसगढ़ से सम्बंधित हो ।

दोस्तों हम धीरे-धीरे  कोशिश करेंगे की जैसे ही छत्तीसगढ़ का Topic ख़त्म हो जाये तो हम इस में पूरा भारत , विश्व, संविधान , इतिहास  सभी जानकारिया आपके लिए लिखेंगे । जो आगे आपको बहुत काम आएगी । 

आप हमारे इस वेबसाइट पर हर तरह की जानकारियों को काटेगोरिएस वाइज पढ़ सकते है:-

Chhattisgarh Tourism :- इसमें आपको हर वो जानकारी दी जाएगी जहा पर आपको छत्तीसगढ़ में घूमने जरूर जाना चाहिए । इसमें वे सभी स्थल होंगे जहा पर आप अपने छुटियो में अपने परिवार सहित घुमने जरूर जाये ,और दुसरो को भी इन जगहों के बारे में बताये की वे भी घूमने जाये , ताकि हमारे राज्य की  इनकम बढ़ सके । 

Chhattisgarh Temples :- छत्तीसगढ़ के सभी मंदिरो के बारे में जानकारिया आपको इस Category में मिल जाएगी ,पुरे छत्तीसगढ़ के एक-एक मंदिर चाहे वो कोई छोटा से छोटा मंदिर हो या बड़ा से बड़ा हमसे नहीं बच सकता ( मजाक था ) है । 

Chhattisgarh History :- छत्तीसगढ़ के वे अनसुने इतिहास जिसे अपने नहीं पढ़ा या नहीं सुना । इसकी सम्पूर्ण जानकारी आपको इसी में मिल जाएगी । 

Chhattisgarh Archelogy :- इसमें हम आपको छत्तीसगढ़ के पुरातत्तव की चीजे , पुराने महल , पुराने अभिलेख, आदि सभी चीजों की जानकारी आपको इस Category में मिलेगी। 

Chhattisgarh Wildlife: छत्तीसगढ़ के जंगल ,जीव , नदिया , तालाब , जलप्रपात , झील ,अदि सभी प्राकृतिक चीजों की जानकारी आपको इस Category में मिल जाएगी ।  

Share your love
Rajveer Singh
Rajveer Singh

Hello my subscribers my name is Rajveer Singh and I am 30year old and yes I am a student, and I have completed the Bachlore in arts, as well as Masters in arts and yes I am a currently a Internet blogger and a techminded boy and preparing for PSC in chhattisgarh ,India. I am the man who want to spread the knowledge of whole chhattisgarh to all the Chhattisgarh people.

Articles: 1117

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *