महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ | Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh

5/5 - (6votes)
Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev
Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev

विद्यार्थीओ आज हम पढ़ेंगे महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ | Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh , Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Samman के बारे में तो चलिए शुरू करते है ।

 महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ | Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh

रामानुज प्रताप सिंहदेव का जन्म 8 दिसंबर सन् 1901 ई. को छत्तीसगढ़ के उत्तर में स्थित कोरिया रियासत की राजधानी बैकुंठपुर में हुआ था। पता शिवमंगल अत्यंत न्यायप्रिय तथा | कर्तव्यनिष्ठ राजा थे। पिताजी के | देहावसान के बाद मात्र आठ वर्ष में रामानुज राजगद्दी पर नाबालिग होने के कारण कोरिया को न्यायिक अभिरक्षा के अंतर्गत ले लिया गया।

राज्य की शासन व्यवस्था रायपुर स्थित पोलिटिकल एजेंट द्वारा अपने अधीक्षक के माध्यम से होने लगी प्रारंभिक शिक्षा बैकुंठपुर में पूरी कर आगे की पढ़ाई के लिए 1911 ई. में रायपुर के राजकुमार कॉलेज में भर्ती हो गए। 1920 ई. चीफ कालेज का डिप्लोमा में उन्होंने पूरे भारत में प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसी वर्ष छोटा नागपुर की राजकुमारी | (   महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh , Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Samman Maharaja Ramanuj pratap singhdev award )

दुर्गादेवी के साथ उनका विवाह हुआ। बाद इलाहाबाद के गवर्नमेंट कॉलेज में प्रवेश लिए। 1922 ई. में इंटरमीडिएट पास कर इलाहाबाद विश्व विद्यालय में प्रवेश लिया तथा 1924 में बी.ए की। नागपुर में आयोजित चतुष्कोणीय क्रिकेट प्रतियोगिता में वे इलाहाबाद विश्वविद्यालय से हिन्दू दल में वे आरंभिक बल्लेबाज के रूप में महान खिलाड़ी सी. के. नायडू के साथ पारी की शुरूआत करते थे।

इलाहाबाद में पं. मदनमोहन मालवीय उनके स्थानीय अभिभावक थे। यहीं वे पं. मोतीलाल नेहरू, पं. जवाहरलाल नेहरू तथा डी. पी. मिश्रा के संपर्क में आए। पाँच जनवरी सन् 1925 ई. को मध्यप्रांत एवं बरार के तत्कालीन गवर्नर सर फेंकस्लाई ने रामानुज प्रताप सिंहदेव को संपूर्ण प्रशासनिक अधिकार सौंप दिए। तत्पश्चात् बैकुंठपुर में उनका विधिवत् राजतिलक हुआ। राज्य की जिम्मेदारी संभालने आगे बढ़ाया।

रामानुज प्रताप सिंहदेव के प्रयासों से सन् 1946 ई. में कोरिया राज्य में प्रौढ़ शिक्षा के 64 केंद्र संचालित थे। रामानुज प्रताप सिंहदेव ने बैकुंठपुर में एक हाईस्कूल खोला जो आज शासकीय बहु-उद्देशीय उच्चतर माध्यमिक कहा जाता है। सभी विद्यालयों में उन्होंने एक-एक लघु ग्रंथालय की स्थापना की। इसमें किताबों की अदला-बदली कर स्कूली विद्यार्थियों को पुस्तकें तथा पत्र-पत्रिकाएँ उपलब्ध कराई जाती थी।(   महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh , Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Samman Maharaja Ramanuj pratap singhdev award )

उन्होंने कई ऐसे छात्रावास खोले, जहाँ गरीब बच्चों को निःशुल्क, भोजन, वस्त्र एवं पुस्तकें उपलब्ध कराई जाती थी। राज्य के बाहर उच्च शिक्षा के लिए जाने वाले विद्यार्थियों को विशेष | छात्रवृत्ति दी जाती थी। उन्होंने राज्य में कई तालाब तथा कुएँ खुदवाए। बैकुंठपुर, मनेंद्रगढ़, सोनहत तथा चिरमिरी में चिकित्सालय खोले। सन् 1945 ई. में आयुर्वेदिक दवा निर्माण केंद्र की स्थापना की।

रामानुज प्रताप सिंहदेव ने सन् 1925 ई. में सहकारिता आंदोलन के समय किसानों को यथा संभव सहायता की। उन्होंने अपने राज्य में छह राजकीय कृषि फार्म बनवाए। यहाँ से किसानों को धान, गेहूँ, तिलहन एवं दलहन के उन्नत बीजों का विकास कर कृषकों को दिया जाता था। किसानों को न्यूनतम ब्याज पर कृषि उपकरण एवं पशु खरीदने के लिए ऋ उपलब्ध कराया जाता था।(   महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh , Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Samman Maharaja Ramanuj pratap singhdev award )

रामानुज प्रताप सिंहदेव के प्रयासों से सन् 1928 ई. में क्षेत्र की पहली कोयला खदान का खरसिया एवं चिरमिरी में शुभारंभ किया गया। यहाँ कामगारों के हित एवं सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए। उन्हीं के प्रयासों से सन् 1928 ई. में बिजूरी से चिरमिरी तक रेल्वे लाइन बिछाने का कार्य आरंभ हुआ। सन् 1930 ई. में मनेंद्रगढ़ तक रेलसेवा एवं सन् 1931 ई. में चिरमिरी रेलसेवा प्रारंभ हुआ।

सन् 1931 ई. में लंदन में आयोजित द्वितीय गोलमेज सम्मेलन में महात्मा गांधीजी के नेतृत्व में सम्मिलित कांग्रेस दल में भारतीय शासकों का प्रतिनिधित्व रामानुज प्रताप सिंहदेव ने ही किया । रामानुज कुशल वक्ता होने के साथ-साथ एक अच्छे लेखक भी थे। अपने महल में एक समृद्ध ग्रंथालय की स्थापना की यहाँ बैठकर पढ़ते-लिखते वे सन् 1931 से सन् 1941 तक अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के उपाध्यक्ष थे। (   महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh , Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Samman Maharaja Ramanuj pratap singhdev award )

सन् 1942 ई. में उनके राज्य में अकाल पड़ा। तब उन्होंने बर्मादेश (वर्तमान म्यंमार) से चावल आयात कर गरीबों में वितरित करने की व्यवस्था की। 15 दिसंबर सन् 1947 ई. को उन्होंने सरदार वल्लभभाई पटेल के समक्ष मध्यप्रांत एवं बरार में कोरिया के विलयन अनुबंध पत्र हस्ताक्षर किया। उन्होंने सन् 1948 ई. में मध्य प्रांत, बरार द्वारा नियुक्त प्रषासक को महल को छोड़कर सारे भवन और कोरिया स्टेट खजाने की 1.20 करोड़ रूपये की राशि जमा करा दी। बाद में वे कोलकाता फिर पुणे चले गए। अब उनका अधिकांश समय चित्रकारी एवं फोटोग्राफी में बीतने लगा। 6 अगस्त सन् 1954 ई. को मुंबई में उनका देहावसान हो गया।

छत्तीसगढ़ शासन ने उनकी स्मृति में श्रम एवं उत्पादकता वृद्धि के क्षेत्र में अभिनव प्रयत्नों के लिए राज्य स्तरीय महाराज रामानुज प्रताप सिंहदेव सम्मान स्थापित किया है।(   महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव छत्तीसगढ़ Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Chhattisgarh , Maharaja Ramanuj Pratap Singhdev Samman Maharaja Ramanuj pratap singhdev award )

इन्हे भी पढ़े :-

आजीविका

1.अर्थव्यस्था में कृषि की भूमिका क्लिक करे
2.हरित क्रांति क्लिक करे
3.कृषि में यंत्रीकरण क्लिक करे
4.कृषि सम्बन्धी महत्वपूर्ण जानकारिया क्लिक करे
5.कृषि सम्बंधित महत्वपूर्ण योजनाए क्लिक करे
6.राज्य के जैविक ब्रांड क्लिक करे
7.शवेत क्रांति क्लिक करे
8.राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन क्लिक करे
9.दीनदयाल उपाध्याय राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन बिहान क्लिक करे
10.दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौसल योजना क्लिक करे
11.आजीविका एवं ग्रामोद्योग क्लिक करे
12.ग्रामोद्योग विकास के लिए छत्तीसगढ़ शासन के प्रयत्न क्लिक करे
13.संस्थागत विकास- Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Download क्लिक करे
15.आजीविका हेतु परियोजना प्रबंध सहकारिता एवं बैंक क्लिक करे
16.राज्य में सहकारिता क्लिक करे
17.सहकारी विपरण क्लिक करे
18.भारत में बैंकिंग क्लिक करे
19.सहकारी बैंको की संरचना क्लिक करे
20.बाजार क्लिक करे
21.पशु धन उत्पाद तथा प्रबंध क्लिक करे
22.छत्तीसगढ़ में पशु पालन क्लिक करे
23.पशु आहार क्लिक करे
24.पशुओ में रोग-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Download क्लिक करे
25.मतस्य पालन क्लिक करे

 

ग्रामीण विकास की फ्लैगशिप योजनाओ की जानकारी

1.महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार योजना क्लिक करे
2.महात्मा गाँधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम की विशेषताएं क्लिक करे
3.सुराजी गांव योजना क्लिक करे
4.स्वर्ण जयंती ग्राम स्वरोजगार योजना क्लिक करे
5.इंदिरा आवास योजना-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Download क्लिक करे
6.प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) क्लिक करे
7.प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना क्लिक करे
8.मुख्यमंत्री ग्राम सड़क एवं विकास योजना क्लिक करे
9.मुख्यमंत्री ग्राम गौरव पथ योजना क्लिक करे
10.श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन क्लिक करे
11.अटल खेतिहर मजदूर बीमा योजना क्लिक करे
12.आम  आदमी बिमा योजना क्लिक करे
12.स्वच्छ भारत अभियान (ग्रामीण) क्लिक करे
13.सांसद आदर्श ग्राम योजना क्लिक करे
14.विधायक आदर्श ग्राम योजना क्लिक करे
17.पंचायत एवं समाज कल्याण विभाग की योजनाए क्लिक करे
19.निशक्त जनो के लिए योजनाए क्लिक करे
20..सामाजिक अंकेक्षण-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Download क्लिक करे
21.ग्रामीण विकास योजनाए एवं बैंक क्लिक करे
22.सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 क्लिक करे
21.जलग्रहण प्रबंधन : उद्देश्य एवं योजनाए क्लिक करे
22.छत्तीसगढ़ में जलग्रहण प्रबंधन क्लिक करे
23.नीरांचल राष्ट्रीय वाटरशेड परियोजना क्लिक करे

 

पंचायतरी राज व्यवस्था 

1.पंचायती राज व्यवस्था क्लिक करे
2.73 वाँ संविधान संशोधन अधिनियम 1992 : सार-संक्षेप क्लिक करे
 3.73 वाँ संविधान संशोधन के प्रावधान क्लिक करे
4.छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम क्लिक करे
5.छत्तीसगढ़ में पंचायती राज व्यवस्था से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
6.ग्राम सभा से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
6.अनुसूचित क्षेत्रों में पंचायतों के लिए विशिष्ट उपबंध  से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
7.पंचायत की स्थापना से सम्बंधित प्रश्न -Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Download क्लिक करे
8.पंचायतों के कामकाज -संचालन तथा सम्मिलन की प्रक्रिया से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
10.ग्राम पंचायत के कार्य से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
11.पंचायतों की स्थापना, बजट तथा लेखा से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
12.कराधान और दावों की वसूली से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
13.पंचायतो पर निर्वाचन का संचालन नियंत्रण एवं उपविधियाँ से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
16.शास्तियाँ-Cg Vyapam ADEO Notes | Cg vyapam ADEO Book pdf Download क्लिक करे
17.14 वा वित्त आयोग से सम्बंधित प्रश्न क्लिक करे
18.15 वाँ वित्त आयोग क्या था क्लिक करे

 

छत्तीसगढ़ सामान्य ज्ञान  

1.छत्तीसगढ़ नामकरण क्लिक करे
2.छत्तीसगढ़ के 36 गढ़ क्लिक करे
3.छत्तीसगढ़ राज्य का गठन क्लिक करे
4.छत्तीसगढ़ की भगौलिक स्थिति , क्षेत्र एवं विस्तार क्लिक करे
5.छत्तीसगढ़ का विधायिका क्लिक करे
6.छत्तीसगढ़  में अब तक के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री क्लिक करे
7.छत्तीसगढ़ की न्यायपालिका क्लिक करे
8.छत्तीसगढ़ के राज्य के प्रतिक क्लिक करे
9.छत्तीसगढ़ के जिलों की सूचि क्लिक करे
10.छत्तीसगढ़ का भूगोल क्लिक करे
11.छत्तीसगढ़ की मिट्टिया क्लिक करे
12.छत्तीसगढ़ की जलवायु क्लिक करे
13.छत्तीसगढ़ का अपवाह तंत्र क्लिक करे
14.छत्तीसगढ़ की परियोजनाएं क्लिक करे
15.छत्तीसगढ़ के जलप्रपात क्लिक करे
16.छत्तीसगढ़ में कृषि सम्बंधित जानकारिया क्लिक करे
17.छत्तीसगढ़ में खनिज क्लिक करे
18.छत्तीसगढ़ में ऊर्जा संसाधन क्लिक करे
19.छत्तीसगढ़ के उद्योग क्लिक करे
20.छत्तीसगढ़ के औधोगिक विकास पार्क क्लिक करे
21.छत्तीसगढ़ के परिवहन क्लिक करे
22.छत्तीसगढ़ की जनगणना क्लिक करे
23.छत्तीसगढ़ की जनजातियाँ क्लिक करे
24.छत्तीसगढ़ के किले महल एवं पर्यटन स्थल क्लिक करे
25.छत्तीसगढ़ के तीज त्यौहार क्लिक करे
26.छत्तीसगढ़ के प्रमुख मेले एवं तिथि क्लिक करे
27.छत्तीसगढ़ के लोक महोत्सव क्लिक करे
28.छत्तीसगढ़ के प्रमुख व्यंजन क्लिक करे
29.छत्तीसगढ़ का लोक नृत्य क्लिक करे 
30.छत्तीसगढ़ का लोक नाट्य क्लिक करे 
31.छत्तीसगढ़ का लोकगीत क्लिक करे
32.छत्तीसगढ़ के लोक खेल क्लिक करे
33.छत्तीसगढ़ का चित्रकला क्लीक करे 
31.छत्तीसगढ़ के हस्तशिल्प क्लिक करे
32.छत्तीसगढ़ के आभूषण क्लिक करे
33.छत्तीसगढ़ के प्रमुख चित्रकार एवं शिल्पकार क्लिक करे
34.छत्तीसगढ़ का प्राचीन इतिहास क्लिक करे
35.छत्तीसगढ़ का मध्यकालीन इतिहास क्लिक करे
36.छत्तीसगढ़ का आधुनिक इतिहास क्लिक करे
39.छत्तीसगढ़ के आदिवासी विद्रोह क्लिक करे
40.छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता आंदोलन क्लिक करे
41.छत्तीसगढ़ के असहयोग आंदोलन क्लिक करे
42.छत्तीसगढ़ में  सविनय अवज्ञा आंदोलन क्लिक करे
43.छत्तीसगढ़ में शिक्षा क्लिक करे
44.छत्तीसगढ़ में प्रथम क्लिक करे

 

Leave a Comment