छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की पेंट्रीकार में आइआरसीटीसी की टीम ने की औचक जांच

बिलासपुर: कोरबा- अमृतसर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की पेंट्रीकार का मंगलवार को आइआरसीटीसी की टीम ने औचक जांच की। इस पेंट्रीकार के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। हालांकि टीम को यहां किसी तरह की गड़बड़ी नहीं मिली। ऐसी स्थिति में दिशा- निर्देश देकर टीम लौट गई।

यह जांच त्योहारी सीजन को देखते हुए की जा रही है। पिछले दिनों मुंबई- हावड़ा मेल की पेंट्रीकार में गड़बड़ी मिली थी। बिना अनुमति खाना पका रहे थे। आइआरसीटीसी को संदेह है कि और भी ट्रेनों की पेंट्रकार में इसी तरह की लापरवाही हो रही है। इसीलिए आइआरसीटीसी ने किसी भी दिन कोई भी समय पेंट्रीकार की औचक जांच करने की योजना बनाई है। इसी के मद्देनजर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस की पेंट्रीकार में दबिश दी गई। पेंट्रीकार में पहुंचने के बाद टीम ने सबसे पहले यह देखा कि कही खाना तो नहीं पक रहा है।

राशन सामग्रियों को भी खंगाला गया। दरअसल यह सूचना है स्टेशन पहुंचने पर सामाग्रियां छिपा दी जाती है। जब यहां से ट्रेन रवाना होती है, उसके बाद खाना पका रहे हैं। जबकि कोरोना संक्रमण की वजह से रेलवे बोर्ड ने इस पर प्रतिबंध लगाकर रखा है और आइआरसीटीसी को सख्त निर्देश है कि इस नियम का पालन करना है। जांच के दौरान रेलनीर की उपलब्धता और सफाई व्यवस्था का भी जायजा लिया गया।

 

पर टीम को किसी तरह की गड़बड़ियां नहीं मिली। हालांकि इसे जांच की औपचारिकता कहा जा सकता है। जब स्टेशन से रवाना होने के बाद लापरवाही बरती जाती है तो आइआरसीटीसी को इसके अनुरूप जांच की योजना बनानी चाहिए। क्योंकि मेल में गड़बड़ी गोंदिया स्टेशन में पकड़ गई थी। हालांकि आइआरसीटीसी का कहना है कि सभी ट्रेनों में एक सुपरवाइजर को मानिटरिंग के लिए भेजा जा रहा है। छत्तीसगढ़ में एक की ड्यूटी है, जो गोंदिया तक जांच करते जाएगा।

 

 

 

Leave a Reply