छत्तीसगढ़ की हरियाली प्रसार योजना क्या है ? | Hariyali Prasar Yojna kya hai

3.5/5 - (6votes)

छत्तीसगढ़ की हरियाली प्रसार योजना क्या है ? | Hariyali Prasar Yojna kya hai

हरियाली प्रसार योजना चर्चा में क्यों हैं ?

हाल ही में वन विभाग द्वारा जारी अकड़ों के अनुसार वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा संचालित हरियाली  प्रसार योजना के अंतर्गत तीन वर्षों ( 2019, 2020 तथा 2021 ) में 83 लाख 31 हजार पौधों का रोपण किया गया है, जो कि एक रिकार्ड हैं।( हरियाली प्रसार योजना क्या है ? | Hariyali Prasar Yojna kya hai )

प्रमुख बिन्दु

राज्य में हरियाली प्रसार योजना के अंतर्गत रोपित किए गए पौधों का रकबा :

  • वर्ष 2019-20 में एक हजार 600 हेक्टेयर रकबा,
  • वर्ष 2020-21 में  3000 हेक्टेयर रकबा,
  • वर्ष 2021-22 में 2 हजार 800 हेक्टेयर रकबा
  • इस प्रकार तीन वर्षों (2019, 2020 तथा 2021) का कुल रकबा :- 7 हज़ार 400 हेक्टेयर रकबा ।

हरियाली प्रसार योजना के तहत वर्ष 2019, 2020 तथा 2021 के कुल लाभान्वित हितग्राहियों की संख्या 44 हजार 74 हैं।

  • वर्ष 2019-20 में लाभान्वित हितग्राही-10 हजार 497 लाभान्वित हितग्राही
  • वर्ष 2020-21 में लाभान्वित हितग्राही-20 हजार 16 लाभान्वित हितग्राही
  • वर्ष 2021-22 में लाभान्वित हितग्राही-13 हजार 651 लाभान्वित हितग्राही

वर्तमान में हरियाली प्रसार योजना के अंतर्गत सागौन, मांस, खम्हार, आंवला, शीशम, चंदन, मीलिया डुबिया, गिरी, टिशू कल्चर बांस, टिशू कल्चर सागौन, आम, कटहल, मुनगा, सीताफ्ल एवं अन्य प्रजातियों के पौधों का रोपण शामिल हैं।( हरियाली प्रसार योजना क्या है ? | Hariyali Prasar Yojna kya hai )

😁👉 गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़  
😁👉 छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री मितान योजना क्या है 

हरियाली प्रसार योजना के बारें में 

  • योजना की शुरुआत : 5 जुलाई, 2019 को छत्तीसगढ़ के वन मंत्री मोहम्मद अक्टूबर ने रायपुर में हरियाली प्रसार वाहन योजना का शुभारंभ किया। ( हरियाली प्रसार योजना क्या है ? | Hariyali Prasar Yojna kya hai )
  • योजना का मुख्य उद्देश्य : वानिकी को प्रोत्साहित करना और हरियाली को बढ़ावा देना।
  • योजना के प्रमुख प्रावधान : हरियाली प्रसार योजना के तहत कृषकों की स्वयं की भूमि पर कृषि वानिकी को प्रोत्साहित करने और हरियाली को बढ़ाने के लिये वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग द्वारा प्रति हितग्राही 50 से 5 हज़ार तक पौधे उपलब्ध कराए जाते हैं। इसके साथ ही इस भूमि पर पौधारोपण करने के बाद एक वर्ष बाद जीवित रहने वाले पौधों का संरक्षण करने के लिए वन विभाग द्वारा 2 रुपए प्रति पौधा के हिसाब से प्रोत्साहन राशि भी उपलब्ध कराई जाती हैं। ( हरियाली प्रसार योजना क्या है ? | Hariyali Prasar Yojna kya hai )

इन्हे भी पढ़े

😁👉 गोधन न्याय योजना छत्तीसगढ़  
😁👉 छत्तीसगढ़ मुख्यमंत्री मितान योजना क्या है 

👉माँ मड़वारानी मंदिर : आखिर क्यों मंडप छोड़ भाग आयी थी माता मड़वारानी 

👉पाताल भैरवी मंदिर : शिव , दुर्गा , पाताल भैरवी एक ही मंदिर में क्यों है ?

👉फणीकेश्वरनाथ महादेव मंदिर : सोलह खम्बो वाला शिवलिंग अपने नहीं देखा होगा !

👉प्राचीन शिव मंदिर : भगवन शिव की मूर्तियों को किसने तोडा , और नदी का सर धार से अलग किसने किया ?

👉प्राचीन ईंटों निर्मित मंदिर : ग्रामीणों को क्यों बनाना पड़ा शिवलिंग ?

👉चितावरी देवी मंदिर  : शिव मंदिर को क्यों बनाया गया देवी मंदिर ?

👉शिव मदिर : बाली और सुग्रीव का युद्ध करता हुआ अनोखा मंदिर !

👉सिद्धेश्वर मंदिर : आखिर त्रिदेव क्यों विराजमान है इस मंदिर पर ?

👉मावली माता मंदिर : महिसासुर मर्दिनी कैसे बन गयी मावली माता ?

👉कुलेश्वर मंदिर : ब्रह्मा, विष्णु , शंकर के रचयिता अदि शिव का मंदिर 

👉चंडी माता मंदिर : विचित्र ! पत्थर की स्वयंभू मूर्ति निरंतर बढ़ रही है !

👉खरौद का शिवमंदिर : लक्ष्मण जी ने क्यों बनाये थे सवा लाख शिवलिंग ?

👉जगननाथ मंदिर : चमत्कार ! पेड़ का हर पत्ता दोने के आकर का कैसे ?

👉केशव नारायण मंदिर : भगवान विष्णु के पैर के नीचे स्त्री, शबरी की एक कहानी !

👉नर-नारायण मंदिर : मेरु शिखर के जैसा बना मंदिर !

👉राजीव लोचन मंदिर : कुम्भ से भी अनोखा है यहाँ का अर्धकुम्भ !

👉खल्लारी माता का मंदिर : जहा भीमपुत्र घटोच्कच का जन्म हुआ , कौरवो ने पांडवो को मरने के लिए लाछागृह भी यही बनवाया था !

👉देवरानी और जेठानी मंदिर : क्या है सम्बन्ध दोनों मंदिरो के बीच ?

👉मामा भांजा मंदिर : ऐसा मंदिर जिसका निर्माण एक दिन में किया गया !

👉लक्ष्मण मंदिर : पुरे भारत में ईंटो से निर्मित पहला मंदिर 

👉जैन मंदिर : राजपूत राजाओ द्वारा बनाये गए जैन मंदिर 

👉विष्णु मंदिर : कलचुरी शासको द्वारा बनाया गया अब तक का जबरजस्त मंदिर !

👉गणेश मंदिर  : पुत्री उषा और चित्रलेखा की कहानी !

👉दंतेश्वरी मंदिर : 52वा शक्तिपीठ जिसके बारे में बहुत हिन्दू नहीं जानते !

👉हटकेश्वर महादेव मंदिर : जिसे मुग़ल भी नहीं तोड़ पाए !

👉महामाया देवी मंदिर : यहाँ 31 हजार ज्योति कलश क्यों जलाते है श्रद्धालु !

👉शिवरीनारायण मंदिर : जहा भगवान राम ने खाये थे शबरी के झूठे बेर ।  

👉माँ बम्लेश्वरी मंदिर : आखिर क्यों तालाब में कूदी थी कामकंदला ?

👉नगपुरा जैन मंदिर : राजा गज सिंह ने 108 जैन मुर्तिया बनाने की प्रतिज्ञा क्यों ली ? 

👉भोरमदेव मंदिर : दाढ़ी-मुछ वाले योगी की मूर्ति के पेट पर क्या लिखा है ? 

👉माता कौशल्या मंदिर : वह धरती जिसने भगवान राम की माता कौशल्या को जन्म दिया !

👉डीपाडीह मंदिर : सामंत की रानियाँ क्यों कूद पड़ी आग में ?

👉शिवरीनारायण के आस पास के अन्य सभी मंदिर ।

👉बाबा सत्यनारायण धाम रायगढ | Baba Satyanarayan Dham Chhattisgarh

👉लुतरा शरीफ बिलासपुर छत्तीसगढ़ | Lutra Sharif Bilaspur Chhattisgarh

👉शदाणी दरबार छत्तीसगढ़ | Shadani Darbar Raipur Chhattisgarh

👉छत्तीसगढ़ के धार्मिक स्थल | Chhattisgarh ke Dharmik Sthal

👉श्री गुरु सिंह सभा गुरुद्वारा | Shree Guru Singh Sabha Gurudwara Chhattisgarh

Leave a Comment