Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi | Feminist Criticism in Wilderness in hindi

4.5/5 - (38votes)

Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi | Feminist criticism in wilderness in Hindi

यह एक निबंध है जिसे 1981 में लिखा गया था , यहाँ लेखिका Literary  criticism  को देख रही है , औरतो के point  of  view  से ।

Elaine  कहती है की feminist  critics  को भी female  writers  की तरह problem  face  करनी होती है , पहले male-female में equality  नहीं थी , तो वे अपने openness  के साथ नहीं कुछ भी नहीं लिख सकती थी , इसी प्रकार same  problem  feminist  critics  के साथ भी है ।

लेखिका के अनुसार feminist  criticism  wilderness  की और गुजर रहा है । इसका reason  वह देती है , की feminist  criticism  ये अभी तक complete , entire  independent  model  इसलिए नहीं बन पाया है , क्योकि जो Theoretical  framework  होता है , feminist  criticism  के लिए available  नहीं है , क्योकि अभी तक जितना भी criticism  लिखा गया है वह अभी तक  male  mortals  के ऊपर ही लिखा गया है । ( Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi )

Theoritical  framework  available  नहीं है इसका reason  लेखिका देती है की , आदमी द्वारा लिखा गया  वर्क , एक औरत को read  करना पड़ता है ( इसे कहा जाता है Feminist criticism of women as a reader) और वही पर जब औरत द्वारा लिखा गया work  औरत द्वारा Interpret  किया जाये , उसका text  study  किया जाये , फिर उसका Criticism  किया जाये , औरत के द्वारा इसे कहा जाता है ( Feminist criticism of a women as a writer ) इसे Gyno  Criticism  भी कहा जाता है । ( Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi )

Gyno  Criticism  में women  के द्वारा लिखा गया literature  होता है , उसकी history  , style  , theme  , genres  , structure  of  writing  होता है , उसे study  किया जाता है , Gyno  Criticism  के 4 different  models  होते है , जिन्हे 4 तरीको से जज किया जाता है :-

  1. Biological
  2. Linguistic
  3. Psychoanalytic
  4. cultural

Biological

पहले बहुत सारी theories  आयी जो anthropologist  थे उन्होंने कहा जो में होता है उसके Brain  के frontal  lobe  होता है , वो औरत के Brain  के frontal  lobe  से बड़ा होता है ,( frontal  lobe  का काम होता है mind  में creativity  को पैदा करना ) इससे यह prove  हो जाता है की men  का creativity  level  औरतो से ज्यादा होता है । लेकिन Elain  showalter  कहती है की ऐसा नहीं है , औरत ही एक बच्चे को जन्म देती है और इस दुनिया में एक creativity  लती है , ( Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi )

Linguistic

जब से यह society  बानी है , men ने women  को opress  किया है , इसी प्रकार literature  में उनका ही दबदबा रहा है , और उन्होंने अपनी एक language  create  कर ली है , औरतो को भी चाहिए की वो खुद की एक language  create  करे , जिसे feminist  language  कहा जाये  , क्योकि में की जो language  है वह एक forum  writing  की तरह है , जिसमे औरते comfortable  नहीं है । ( Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi )

Psyhco  Analytic

पहले से जो study  हुए है उसमे माना गया है की male  की creative  capacity  , औरतो  से ज्यादा होती है , इस वजह से औरते inferior  है , as  compared to male  । लेकिन ऐसे कुछ critics  है जो new  principal  of  feminism  psycho  analysis  को develop  करने की कोशिश कर रहे है , जो की differentiate  कर पायेगा gender  identity  को । ( Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi )

Cultural  mode  of  Differentiation

ऊपर के जो 3 factor  हमने पढ़ा वो cultural  से affected  होते है , जो औरतो का experience  है वो कभी भी जो men  ने literature  लिखा उसमे include  नहीं किए गया , उन्हें culture  का part  समझा ही नहीं गया , उन्हें subculture  का part  समझा गया , सभी females  को एक mutant  group  के रूप में देखा गया , male  के group  को dominant  group  के रूप  में देखा  गया । ( Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi )

इन्ही सब वजहों से feminist  Criticism  wilderness  में है और develop  नहीं हो पाया ,

last  में conclude  करते हुए Elain  slater  कहती है , की चाहे हम कितना भी कोशिश कर ले कोई ऐसी country  या situation  कभी नहीं हो पायेगी , जिसमे आदमी और जो औरत है उसके बीच का different  है वो ख़त्म हो जायेगा ।

इन्हे भी पढ़े :-

2 thoughts on “Feminist Criticism in Wilderness by Elaine Showalter in Hindi | Feminist Criticism in Wilderness in hindi”

  1. It was a great work.gave all important points in a nut shell.
    The way you have translated it Hindi is really really remarkable because you kept your focus on conveing the matter perfectly not just for the sake of converting every word in Hindi.
    Thanks a lotttttt

    Reply

Leave a Comment