छत्तीसगढ़ राज्य के प्रतिक | Chhattisgarh Rajya ke Pratik

4/5 - (1vote)

छत्तीसगढ़ राज्य के प्रतिक | Chhattisgarh Rajya ke Pratik

छत्तीसगढ़ राज्य के प्रतीक

  • राजकीय पक्षी : बस्तर की पहाड़ी मैना (Gracula religiosa peninsularis )
  • राजकीय पशु : वनभैसा Wild Buffalo ( Bubalus Bubalis)
  • राजकीय वृक्ष : साल या सरई (Shorea robusta )
  • राजधानी  : अटल नगर
  • राजभाषा : छत्तीसगढ़ी (11 जुलाई, 2008 से)

राज्य का प्रतीक चिन्ह

  • 36 गढ़ों का चिह्न : विकास की अदम्य आकांक्षा का प्रतीक गोलाकार चिन्ह
  • किलों का हरा रंग : वन एवं नैसर्गिक सुन्दरता का प्रतीक
  • धान की बालियां : राज्य की प्रमुख फसल धान एवं कृषि प्रधान राज्य का प्रतीक
  • वज्र (विद्युत संकेत) : भरपूर ऊर्जा का प्रतीक
  • नारंगी, सफेद, हरी रेखाएं : नदियों का प्रतीक

राज्य की कार्यपालिका

प्रमुख पदाधिकारी

  • राज्य का संवैधानिक प्रमुख  : राज्यपाल
  • राज्य का कार्यपालिक प्रमुख: राज्यपाल
  • वास्तविक कार्यपालिका प्रमुख: मुख्यमंत्री
  • विधानसभा सचिवालय का प्रमुख: विधानसभा अध्यक्ष
  • राज्य प्रशासन में सर्वोच्च पद: मुख्य सचिव
  • सर्वोच्च पुलिस अधिकारी: पुलिस महानिदेशक

 प्रशासनिक ईकाइयां

प्रशासनिक इकाईयां

  • संभाग : 5
  • जिला : 33
  • विकासखण्ड : 146 (85 आदिवासी विकासखण्ड सहित)
  • तहसील : आप निचे कमेंट में बताये ?

संभागों की संख्या-

1. रायपुर–रायपुर, बलौदाबाजार, गरियाबंद, धमतरी, महासमुंद
2.बिलासपुर — बिलासपुर, मुंगेली, कोरबा, जांजगीर-चाम्पा, सक्ती, सारंगढ़-बिलाईगढ़, रायगढ़
3. बस्तर–बस्तर, कोण्डागाँव, कांकेर, दंतेवाड़ा, सुकमा, नारायणपुर, बीजापुर
4. सरगुजा–सरगुजा, सूरजपुर, बलरामपुर, कोरिया, मनेन्द्रगढ़ – चिरमिरी – भरतपुर, जशपुर
5.दुर्ग— दुर्ग, बेमेतरा, बालोद, कबीरधाम, राजनांदगाँव, मोहला – मानपुर – अम्बागढ़ चौकी, खैरागढ़ – छुईखदान – गंडई

Leave a Comment