CHHATTISGARH: चिंता करने की जरूरत नहीं, मौसम ठीक होते ही शुरू होगी खरीदी, सभी पंजीकृत किसानों का धान खरीदेंगे -CM

Rate this post

प्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की शुरुआत एक दिसम्बर से हुई थी।

बरसात की वजह से धान खरीदी बंद से चिंता में पड़े किसानों को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बड़ा भरोसा दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा, बीते कुछ दिनों से मौसम ठीक न होने की वजह से राज्य में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की स्थिति प्रभावित हुई है। इसको लेकर किसानों को चिन्ता करने की जरूरत नहीं है। मौसम ठीक होते ही उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी में तेजी लायी जाएगी।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, राज्य में सभी पंजीकृत कृषकों से धान की खरीदी की जाएगी। उन्होंने कहा है कि राज्य में धान खरीदी की अंतिम तारीख 31 जनवरी है। सरकार की यह कोशिश होगी की इस अवधि में शत-प्रतिशत किसानों से उनके पंजीकृत रकबे के धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर पूरी कर ली जाए। उन्होंने कहा कि आवश्यकता पड़ने पर किसानों के सहूलियत के लिए धान खरीदी के निर्धारित अवधि में वृद्धि करने का विचार किया जाएगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे से धान खरीदी की व्यवस्था की समीक्षा की और इस संबंध में आवश्यक कदम उठाने को कहा है। मुख्यमंत्री ने खरीदी की व्यवस्था को और अधिक विस्तारित करने के निर्देश दिए हैं। मौसम खुलते ही किसानों से तेजी से धान खरीदी की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।

प्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की शुरुआत एक दिसम्बर से हुई थी।
प्रदेश में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की शुरुआत एक दिसम्बर से हुई थी।

69.5 लाख मीट्रिक टन धान खरीदा जा चुका

छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के चालू सीजन में 69 लाख 05 हजार 182 मीट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। राज्य के 2 हजार 484 धान उपार्जन केन्द्रों में में 17 लाख 14 हजार 159 किसानों ने यह धान बेचा है। धान खरीदी के अनुमानित लक्ष्य का 65.76% धान की खरीदी हो चुकी है। अब तक 13 हजार 426 करोड़ 57 लाख रुपए का भुगतान किया जा चुका है।

Leave a Reply