[2021] छत्तीसगढ़ के सरकारी योजनाए | Chhattisgarh ke Sarkari Yojnaye 2021

[2021] छत्तीसगढ़ के सरकारी योजनाए | Chhattisgarh ke Sarkari Yojnaye 2021

Table of Contents

मोर जमीन मोर मकान योजना :-

  • शहर में रहने वाले गरीब परिवारों को उनके ही जमीन पर आवास का नव निर्माण करने में सहायता दी जायेगी।
  • यह योजना राज्य के 168 निकायों में लागू होगी।

मुख्यमंत्री बाड़ी – बांस योजना :-

  • राज्य सरकार के द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में बांस के उत्पादन को अधिक करने के लिए बाड़ी-बांस योजना की शुरूआत गयी है।

ई-डिस्ट्रिक्ट योजना (चॉइस 2.0 ) :-

  • शासन के दस्तावेज की जानकारी उपलब्ध कराना।
  • इस परियोजना की कार्य प्रतिभा इलेक्ट्रानिक तरीके से की जाती है।

अटल विहार योजना :-

  • 5 हजार से अधिक आबादी वाले शहर व गाँवों में जहाँ कुटीर उद्योग हो उनके आस पास के क्षेत्रों में आवास उपलब्ध करना .

राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन “बिहान” योजना :-

  • प्रारंभ लक्ष्य > 1 अप्रैल 2013
  • उद्देश्य इस योजना के तहत ग्रामीण परिवारों को स्वरोजगार की अवसर प्रदान कर गरीबी को दूर करना है।

104 आरोग्य सेवा योजना :-

  • प्रारम्भ :- 23 सितम्बर 2013
  • लक्ष्य:- कॉल सेन्टर के माध्यम से विभिन्न स्तरों के रोगियों को चिकित्सा सुविधा देना।
  • उद्देश्य:- स्वास्थ्य संबंधित जानकारी और शिकायत विवरण जैसी सुविधा निःशुल्क प्रदान करना।

जननी सुरक्षा योजना :-

  • प्रारम्भ :- 2005 से प्रारंभ |
  • लक्ष्य:- 102 महतारी एक्सप्रेस
  • उद्देश्य:- संस्थागत प्रसव को बढ़ावा देना।
  • मातृ मृत्युदर एवं शिशु मृत्युदर में कमी लाना।
  • अस्पताल में प्रसव कराने वाली महिलाओं को राशि प्रदान किया जाना , ग्रामीण महिला 1400 रू. राशि,  शहरी महिला 1000रू. राशि।

जननी शिशु सुरक्षा योजना :-

  • प्रारम्भ :-15 अगस्त 2011
  • उद्देश्य:- गर्भवती महिलाओं और जन्म से एक माह तक के शिशु को स्वास्थ्य सुविधा देना।

मुख्यमंत्री कन्यादान योजना :-

  • प्रारम्भ :- 2005-2006 से प्रारंभ।
  • लक्ष्य :- सादगीपूर्व विवाहों को बढ़ावा देकर, विवाह के फिजुल खर्च को कम करना।
  • उद्देश्य:-निर्धन परिवारों को कन्या के विवाह के लिए आर्थिक सहायता 15 हजार तक की राशि दी जाती है।

चिरायु योजना :-

  • प्रारम्भ :- 2014
  • लक्ष्य ;- 0 से 18 वर्ष के बच्चों का निःशुल्क स्वास्थ्य परीक्षण करना।
  • उद्देश्य :- इस योजना के तहत कुल 30 बीमारियों को प्रमुखता दी गई है।

फुलवारी योजना :-

  • उद्देश्य :- 0 से 3 आयु वर्ग के बच्चों को कुपोषण से मुक्त कराना।

सक्षम योजना :-

  • प्रारम्भ :- 2009-10 से प्रारंभ |
  • उद्देश्य :- 35 से 45 वर्ष वाले विधवा, तलाकशुदा और अविवाहित महिलाओं को स्वयं का व्यवसाय आरंभ करने में सहायता देना ।
  • 1 लाख तक का ऋण दिया जा रहा है।

नवा बिहान योजना :-

  • उद्देश्य :- घरेलू हिंसा पीड़ित महिलाओं को संरक्षण विधिक परामर्श चिकित्सा आश्रम की सुविधा प्रदान करना।

छत्तीसगढ़ महिला कोष :-

  • प्रारम्भ :- 2 फरवरी 2002
  • उद्देश्य :- छ.ग. महिला कोष द्वारा महिला स्व सहायता समूहों को आसान शर्तों पर ऋण उपलब्ध कराना।

महतारी जतन योजना :-

  • प्रारम्भ :- मई 2016, सलगंवाकला, सोनहट (कोरिया) से शुरूआत।
  • उदेस्य :- गर्भवती महिलाओं को कुपोषण मुक्त कराना।
  • आँगनबाड़ी केन्द्र के माध्यम से गर्भवती महिलाओं को पौष्टिक आहार व गर्म भोजन दिया जायेगा।

मुख्यमंत्री अमृत योजना :-

  • प्रारम्भ :- 29 अप्रैल 2016, सुकमा जिला से शुरूआत।
  • लक्ष्य :- 3 से 6 वर्ष के बच्चों को कुपोषण मुक्त कराना।
  • उद्देश्य :- आंगनबाड़ी केन्द्र में बच्चों को सुगंधित व मीठा दूध वितरण करना।

वन स्टॉफ सेंटर सखी योजना :-

  • प्रारम्भ :- 16 जुलाई 2015
  • लक्ष्य :- 181 (हेल्प लाईन नं.) सखी वन स्टाफ सेंटर

शाकम्बरी योजना :-

  • लघु सीमांत कृषको को नल कूप एवं पम्प निर्माण के लिए अनुदान प्रदान करना।

किसान समृद्धि योजना :-

  • लक्ष्य :- वृष्टि छाया क्षेत्र में अकाल की स्थिति में निर्धारण करना।
  • उद्देश्य :- वृष्टि छाया जिले के 25 विकासखण्ड और 85 आदिवासी विकासखण्ड में लागू।

इंदिरा खेत योजना :-

  • सूखे से निजात हेतु सिंचाई पम्प की स्थापना।

कृषक जीवन ज्योति योजना :-

  • उद्देश्य :- 5 HP तक सिंचाई पम्पों को बिजली प्रदान करना।

भूईयां योजना  :-

  • किसानों को कम्यूटरीकृत भू-अभिलेख एवं नक्शा खसरा प्रदान ।

किसान तरक्की योजना :-

  • लक्ष्य :- मरहान जमीनों पर सामुहिक रूप से साग-सब्जी की खेती शुरू करवाना।
  • उद्देश्य :- इस योजना के तहत् दंतेवाड़ा जिले के दस गांव के लगभग 1 हजार एकड़ मरहान जमीनों को विकसित कर सब्जी-भाजी
  • की खेती किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ युवा सूचना क्रांति योजना :-

  • प्रारंभ:- 2012
  • उद्देश्य:-युवाओं में सूचना क्रांति को बढ़ावा देना
  • इंजीनियरिंग एवं मेडिकल के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को लैपटॉप स्नातक, स्नातकोत्तर के विद्यार्थियों को निःशुल्क टेबलेट प्रदान
  • किया गया।

छत्तीसगढ़ सूचना शक्ति योजना :-

  • प्रारम्भ :- 2005
  • उद्देश्य :- बालिकाओं में कम्प्यूटर शिक्षा को बढ़ावा

मुख्यमंत्री बाल भविष्य सुरक्षा योजना :-

  • प्रारम्भ :- 2014
  • नक्सल हिंसा से पीड़ित क्षेत्रों में शिक्षा का विस्तार।

इन्द्रा हरेली सहेली योजना :-

  • उद्देश्य :- अनुपयोगी भूमि पर फलदार वृक्ष लगाने हेतु

सामाजिक वानिकी योजना :-

  • लक्ष्य :- गांव के आस पास के वातावरण को हरियाली करना।
  • गांव व समाज के लोगों द्वारा फलदार वृक्ष लगाया जाना।

दिव्यांगजनों के लिए निरामया बीमा योजना :-

  • लक्ष्य:- दिव्यांगजनों के लिए बहुविकलांगता से पीड़ित दिव्यागंजनों के लिए एक-एक लाख रू. दिये जाने का प्रावधान रखा गया है।
  • उद्देश्य:-निरामया योजना को मुख्य रूप से बलरामदास टंडन और डॉ. रमन सिंह ने शुरूआत किया।

मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना :-

  • उद्देश्य:- 0 से 15 वर्ष तक के हृदय रोग से पीड़ित बच्चों का इलाज किया जाता है।

मुख्यमंत्री एल.ई.डी लैम्प वितरण योजना :-

  • लक्ष्य:- गरीब परिवारों को निःशुल्क एलईडी बल्व प्रदान करना।
  • उद्देश्य बीपीएल परिवार को 3-3 एलईडी बल्ब निःशुल्क प्रदान ।
  • एपीएल परिवार को 10 नग एलईडी बल्ब प्रदान करना, प्रति बल्ब 85 रु. है।

बस्तर नेट योजना :-

  • लक्ष्य:- बस्तर संभाग को नेटवर्क से जोड़ना।
  • राज्य सरकार बस्तर में यह डिजिटल हाइवे होगा।
  • 40 करोड़ लागत, 832 km तक बिछेगी।

इन्हे भी जरूर पढ़े :-

👉छत्तीसगढ़ के खेल पुरस्कार

👉छत्तीसगढ़ के काव्य गद्य

👉छत्तीसगढ़ में जेल प्रशासन

👉छत्तीसगढ़ में संचार

👉छत्तीसगढ़ में शिक्षा स्कूल विश्वविद्यालय 

Leave a Reply