छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol

Rate this post

छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol

छत्तीसगढ़ का भूगोल धरातलीय स्वरुप 

पहाड़ी क्षेत्र-

  • चांगभखार देवगढ़ पहाड़ी- उत्तरी भाग में
  • छुरी- उदयपुर पहाड़ियाँ उत्तरी भाग में, मुख्यतः कोरबा जिल में
  • मैकल श्रेणी- यह नर्मदा एवं महानदी प्रवाह प्रणाली को विभाजित करती है.
  • अबूझमाड़ की पहाड़ियाँ – सर्वाधिक वर्षा वाला क्षेत्र, छत्तीसगढ़ का चेरापूंजी

मैदानी क्षेत्र-

  • छत्तीसगढ़ का मैदान – राज्य का हृदय प्रदेश
  • बस्तर का मैदान – दक्षिणी सीमांत क्षेत्र में, यह गोदावरी एवं सबरी नदी का मैदान है.
  • रिहन्द बेसिन – राज्य के उत्तरी सीमा पर
  • कन्हार बेसिन राज्य के उत्तर-पूर्वी सीमा पर
  • सरगुजा बेसिन – सरगुजा मुख्य भूमि पर
  • हसदो – रामपुरा बेसिन मुख्य नदी हसदो
  • कोरबा बेसिन ( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )
  • रायगढ़ बेसिन
  • कोटरी बेसिन- दक्षिण-पश्चिम सीमा पर

पठार क्षेत्र-

  • पेण्ड्रा-लोरमी का पठार
  • बस्तर का पठार या दण्डकारण्य का पठार
  • दुर्ग उच्च भूमि- दल्लीराजहरा की पहाड़ियाँ
  • धमतरी- महासमुंद उच्च भूमि

पाट क्षेत्र-

  • मैनपाट – छत्तीसगढ़ का शिमला, तिब्बतियों की शरणस्थली
  • जारंगपाट सरगुजा के सीतापुर क्षेत्र में
  • सामरीपाट बलरामपुर जि., राज्य की सबसे ऊँची चोटी गौरलाटा इसी में है.
  • लहसुन पाट बलरामपुर जि.
  • जमोरा पाट- बलरामपुर जि.
  • जशपुरपाट राज्य का सबसे बड़ा पाट प्रदेश
  • पण्डरा पाट जशपुर जि.

छत्तीसगढ़ की ऊंची चोटियां

ऊंची चोटियां-

छत्तीसगढ़ की सबसे ऊंची चोटीबैलाडीला का नंदिराज 
मैकल श्रेणी की सबसे ऊंची चोटीबदरगढ़
दण्डकारण्य के पठार की सबसे ऊंची चोटीनंदीराज
चांगभखार देवगढ़ की पहाड़ी की ऊंची चोटीदेवगढ़

छत्तीसगढ़ की प्रमुख ऊंची चोटी एवं जिला-

1बैलाडीला नंदीराज1244 मी.दंतेवाड़ा
2गौरलाटा1225 मी.बलरामपुर
3बदरगढ़1176 मी.कवर्धा
4मैनपाट1152 मी.सरगुजा
5देवगढ़1033 मी.कोरिया
6धारी डोंगरी899 मी.महासमुन्द

 छत्तीसगढ़ की भूगर्भिक संरचना एवं शैल समूह

1. आर्कियन युग या आद्य महाकल्प

  • विस्तार : 50%
  • विशेष : छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक क्षेत्र में विस्तृत, प्राचीनतम एवं कठोर शैल समूह

2. धारवाड़ शैल समूह

  • खनिज : लौह अयस्क
  • राज्य में : 3 सीरिज, दुर्ग-बस्तर लौह अयस्क क्षेत्र, चिल्फी घाटी, सोनाखान

3. कड़प्पा क्रम

  • विस्तार : 25%-30%
  • खनिज : चूना पत्थर, डोलोमाइट( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )
  • अन्य : इन्हीं चट्टानों से पंखाकार आकृति में छत्तीसगढ़ मैदान का निर्माण

4. विंध्यन शैल समूह

  • विस्तार : रायपुर, बालोद, जगदलपुर
  • खनिज : चूना पत्थर, बलुआ पत्थर

5. प्रि-कैम्ब्रियन शैल समूह

  • विस्तार : दुर्ग, बालोद, राजनांदगांव
  • अन्य : ज्वालामुखी उद्भेदन से निर्मित

6. दक्कन ट्रेप एवं लमेटा शैल

  • विस्तार : मुख्यत: मैकल श्रेणी का पूर्वी भाग
  • खनिज : बाक्साइट
  • अन्य : दरारी ज्वालामुखी से निकले बेसाल्ट युक्त लावा से निर्मित, बेसाल्ट केअपरदन से काली मिट्टी का निर्माण हुआ है

7. गोंडवाना शैल समूह

  • विस्तार : 17%
  • खनिज : कोयला

छत्तीसगढ़ का प्राकृतिक विभाजन

तथ्यपूर्वी बघेलखण्डजशपुर सामरी पाटछ.ग का मैदानदंडकारण्य
क्षेत्रफल21863(6.6%)6208(4.59%)68064(50.34%) 39060(28.91%)
संभागसरगुजासरगुजारायपुर + दुर्गबस्तर
अन्य नामसरगुजा बेसिनकन्हार बेसिनमहानदी बेसिन इन्द्रावती बेसिन
अक्षांशीय विस्तार23’4 से 24’5″N22”1 से 23’4″N19’4”से 23’7″N.17;4”से 20’3”
देशांतरीय विस्तार80’5 से 81″2E83’2“से 84’2E80,7 से 83’5E80;8“ से 82’5″E
भू-गार्भिक(शैल)गोंडवानादक्कन ट्रेपकड़प्पाधारवाड़ / ग्रेनाइट नीस
ढालउत्तरदक्षिण पूर्व की ओरपूर्व की ओरदक्षिण – पश्चिम की ओर
अपवाह तंत्रसोन, गंगाअधिकांशत: महानदीमहानदी गोदावरी नदी
खनिजकोयला बॉक्साइटचूना, डोलोमाइट लोहा, टीन, हीरा
मिट्टीलाल पीलीलाल पीली+ लेटेराइटलाल पीलीलाल दोमट + लाल बलुई
फसलमोटे अनाज एवं  तिलहनबागवानीधानधान,/कोदो कुटकी मोटा,अनाज
वनक्षेत्र50 प्रतिशतसबसे कम प्रतिशत ( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )
वनस्पतिउष्णकटिबंधीय(सागौन वन) उष्ण आर्द्र मानसूनी(मिश्रित वन)उष्ण आर्द्र मानसूनी(मिश्रित वन)उष्ण शुष्क पर्णपाती वन आर्द्र पर्णपाती (साल वन)
जलवायु उप-महांद्वीपीय उप-महांद्वीपीयउप-महाद्वीपीय.उप-महाद्वीपीय
ऊँची  चोटीदेवगढ़ (1033 मी.)गौरलाटा (1225मी.)बदरगढ़ (1176 मी) बैलाडीला (1210 मी.)
औसत वर्षा125 – 50 सेमी172 सेमी.125-150 सेमी.167 सेमी(प्रतिशत में अबूझमाड़ )
तापमान35’C लगभग32’C लगभग32’C लगभग35’C लगभग
जनजातिउराव,/ कोलकोरवा/नगेशिया बिरहोर /उरावसौरा, बिझवार , धनवारगोंड़, हलबा, माड़िया, मुड़िया,दण्डामी माड़िया
छत्तीसगढ़ का प्राकृतिक विभाजन छत्तीसगढ़ का प्राकृतिक विभाजन 1.महानदी बेसिन 2.दंडकारण्य का पत्थर 3.पूर्वी बघेलखण्ड का पत्थर 4.जशपुर सामरी पाट प्रदेश 

 

 

महानदी बेसिन छत्तीसगढ़ का मैदान | Mahandi Besin Chhattisgarh Ka Maidan

  • छत्तीसगढ़  का सबसे बड़ा प्राकृतिक प्रदेश है महानदी बेसिन ।
  • महानदी बेसिन को ही छत्तीसगढ़ का ह्रदय स्थल कहते है ।
  • महानदी बेसिन में छत्तीसगढ़ की आधी आबादी निवास करती है ।
  • महानदी बेसिन छत्तीसगढ़ का सबसे विकसित क्षेत्र है ।( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )

शामिल जिले:-

  1. राजनांदगाव
  2. दुर्ग
  3. बेमेतरा
  4. बालोद
  5. गरियाबंद
  6. रायपुर
  7. बलौदाबाजार
  8. धमतरी
  9. कवर्धा
  10. मुंगेली
  11. बिलासपुर
  12. जजंगीर चंपा
  13. रायगढ़
  14. महासमुंद
  15. कोरबा

यानि इसमें लगभग पूरा बिलासपुर , रायपुर , दुर्ग समभंग आता है ।  नोट :- इन में मोहला और मानपुर तहसील को छोड़कर ।

क्षेत्रफल 
  • 68064 वर्ग किमी
निर्माण 
  • करप्पा चट्टानों से ( पंखाकार आकृति में )
 ढाल
  • पूर्व की ओर
खनिज 
  • चुना ,पत्थर, डोलोमाइट, सोना, हिरा
फसल 
  • धान ,गेहू ,गन्ना, अदि
वन 
  • मिश्रित वन
वर्षा 
  • 125 सेमी ( लगबग )
कम वर्षा 
  • कवर्धा व बेमेतरा ( वृष्टि छाया क्षेत्र )
  • छत्तीसगढ़ में सबसे कम वर्षा वाला जिला कवर्धा
अपवाह तंत्र 
  • महानदी
जलवायु 
  • उष्ण कटिबंधीय मानसूनी जलवायु
गर्म स्थान 
  • चाम्पा
जनसँख्या घनत्वा 
  • सर्वाधिक

पर्वत 

मैकाल श्रेणी  ऊँची चोटीकवर्धा , राजनांदगाव , मुंगेली । बदरगढ़, ( लीलवानी  ) 1176 मी।
पेंड्रा-लोरमी पर्वत  ऊँची चोटीबिलासपुर , मुंगेली । पलामा चोटी  1080 मी ।
शिशुपाल पर्वत  ऊँची चोटीमहासमुंद । धारी डोंगरी 899 मी ।
डोंगरगढ़ पर्वत   ऊंचाई 404 मी ।
दहला पर्वत ऊंचाई 760 मी ।
लाफागढ़ पर्वत ऊंचाई 1048 मी ।
सिहावा पर्वत ऊंचाई 454 मी ।( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )

इन्हे जरूर पढ़े :- 👉छत्तीसगढ़ में जीवो का संरक्षण 👉छत्तीसगढ़ वन संसाधन  👉जशपुर सामरी पाट प्रदेश 👉सरगुजा बेसिन बघेलखण्ड 👉बस्तर का पठार

बस्तर का पठार Bastar Ka Pathar Dandkaranya Ka Pathar Chhattisgarh

  1. बस्तर का पत्थर को दंडकारण्य का पत्थर भी कहा जाता है .
  2. बस्तर को गोंडो की भूमि कहते है ।
  3. बस्तर को खनिजों का भंडार कहते है ।

शामिल जिला :-

  1. बीजापुर
  2. नारायणपुर
  3. कांकेर
  4. कोंडागांव
  5. बस्तर
  6. दंतेवाड़ा
  7. सुकमा
  8. मोहला मानपुर तहसील
क्षेत्रफल 
  • 39060 वर्ग किमी
निर्माण 
  • धारवाड़  चट्टानों से
 ढाल
  • पश्चिम-दक्षिण  की ओर
खनिज 
  • लोहा, टीन ,ताम्बा,क़्वार्टीज़
फसल 
  • कोदो ,कुटकी
वन 
  • सर्वाधिक सघन  वन
वर्षा 
  • 187 सेमी ( लगबग )
अधिक वर्षा 
  • 400 सेमी लगभग ( अभुझमार में )
  • छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक वर्षा वाला स्थान ।
  • छत्तीसगढ़ का चेरापूंजी , मसिमराम कहते है ।
अपवाह तंत्र 
  • गोदावरी नदी
जलवायु 
  • मानसूनी जलवायु
गर्म स्थान 
  • चाम्पा
जनसँख्या घनत्वा 
  • सर्वाधिक

पर्वत:- 

बैलाडीला  ऊंचाई
  • दंतेवाड़ा ।
  • नंदिराज ( 1210 मी )
अभुझमार पर्वत 
  • ऊंचाई 1076 मी ( नारायणपुर )
आरी डोंगरी 
  • भानुप्रतापपुर ( कांकेर )
छोटे डोंगर 
  • नारायणपुर
मांझी डोंगर 
  • बस्तर
बड़े डोंगर 
  • दंतेवाड़ा
अल्बका पहाड़ी 
  • बीजापुर

इन्हे जरूर पढ़े :- 👉महानदी बेसिन छत्तीसगढ़ का मैदान 👉छत्तीसगढ़ में जीवो का संरक्षण 👉छत्तीसगढ़ वन संसाधन  👉जशपुर सामरी पाट प्रदेश 👉सरगुजा बेसिन बघेलखण्ड

सरगुजा बेसिन बघेलखण्ड Sarguja Besin Purvi Baghelkhand ka Pathar

शामिल जिला :-

  1. सरगुजा 
  2. सूरजपुर 
  3. बलरामपुर 
  4. कोरिया 
क्षेत्रफल 
  • 21863 वर्ग किमी
निर्माण 
  • गोंडवाना  चट्टानों से( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )
 ढाल
  • उत्तर की ओर
खनिज 
  • कोयला
फसल 
  • धान
वन 
  • साल
वर्षा 
  • 150 सेमी ( लगबग )
अधिक ठण्ड 
  • अंबिकापुर ( मैनपाट ) सरगुजा
अपवाह तंत्र 
  • सोन  नदी
जलवायु 
  • आद्र शुष्क

पर्वत 

देवगढ़ की पहाड़ी  ऊँची चोटी
  • कोरिया
  • देवगढ़  ( 1033 मी )
रामगढ़ की पहाड़ी 
  • ऊंचाई 545 मी  ( सरगुजा )
  • जोगीमारा , लक्षमण , सीताबेंगरा की गुफा है
  • सीताबेंगरा की गुफा का निर्माण महेशपुर के राजा ने करवाया था ।
छुरिमतीरंगा या उदयपुर की पहाड़ी 
  • ऊंचाई 965 मी
चागभखार की पहाड़ी 
  • ऊंचाई 965 मी ( सूरजपुर )

इन्हे जरूर पढ़े :-

👉बस्तर का पठार 👉महानदी बेसिन छत्तीसगढ़ का मैदान 👉केनापारा तेलईकछार जलाशय 👉छत्तीसगढ़ वन संसाधन  👉जशपुर सामरी पाट प्रदेश

जशपुर सामरी पाट प्रदेश Jashpur Samri Pat Pradesh Chhattisgarh

  1. सभी प्राकृतिक प्रदेशो में सबसे ऊँचा भाग है ।
  2. पाट को पुरानी समप्राय भूमि कहते है ।
  3. क्षेताफल में सबसे बड़ी पाट – जशपुर पाट ।

शामिल जिला :-

  1. जशपुर
  2. सरगुजा 
  3. बलरामपुर का पाट प्रदेश  
क्षेत्रफल 
  • 6208 वर्ग किमी
निर्माण 
  • दक्कन  चट्टानों से
 ढाल
  • दक्षिण-पूर्व  की ओर( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )
खनिज 
  • कोयला, बॉक्साइट , अभ्रक ,यूरेनियम
फसल 
  • धान
कृषि 
  • बागवानी
वन 
  • साल , सागौन , शीशम, बॉस
वर्षा 
  • 175 सेमी ( लगबग )
अधिक वर्षा 
  • जशपुर जिला छत्तीसगढ़ में सर्वाधिक वर्षा प्राप्त करता है ।
अपवाह तंत्र 
  • महानदी ( ब्रह्मिनी  की शंख व सोन की कन्हार कहते है । )
जलवायु 
  • उष्ण कटिबंधीय जलवायु

पर्वत 

                 सामरी पाट  ऊँची चोटी
  • बलरामपुर
  • गौरलाटा  1125 मी ( छत्तीसगढ़ की सबसे ऊँची  चोटी )
मैनपाट 
  • ऊंचाई 1152 मी  ( सरगुजा )
  • छत्तीसगढ़ का शिमला कहते है ।
  • 1962 में तिबत्तियो को बसाया गया है ।
  • इको पॉइंट , टाइगर पॉइंट , मछली पोईटन , स्पंच पॉइंट यहाँ है ।
  • बॉक्साइट का भंडार भी है यहाँ ।( छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol )
पेंड्रा पाट 
  • जशपुर
जारंग  पाट 
  • सरगुजा
जमीर पाट 
  • बॉक्साइट  का भंडार

नोट :- पूर्व से पश्चिम ->> जमीर पाट , जारंग पाट  जशपुर पाट , मैनपाट ।           दण्डनी ( जशपुर जिला ) ->> जहा दिन मात्रा 4 घंटे की होती है ।           चवर ढल पर्वत ->> हसदेव , मांड बेसिन क्षेत्र में स्थित है । इन्हे जरूर पढ़े :- 👉सरगुजा बेसिन बघेलखण्ड 👉बस्तर का पठार 👉महानदी बेसिन छत्तीसगढ़ का मैदान 👉केनापारा तेलईकछार जलाशय 👉मैत्री बाग भिलाई छत्तीसगढ़

4 thoughts on “छत्तीसगढ़ का भूगोल – Chhattisgarh ka Bhugol”

Leave a Comment