शनि ग्रह के छल्ले क्या हैं और ये किस प्रकार घूमते हैं ?

Rate this post

शनि के छल्ले विभिन्न आकार के बर्फीले टुकड़ों से बने हैं। इनमें सूक्ष्म कणों से लेकर चंद मीटर तक के टुकड़े शामिल हैं। के वैज्ञानिकों का मानना है कि ये टुकड़े शनि या उसके 60 चंद्रमाओं पर गिरने वाले धूमकेतु या क्षुद्र ग्रहों के टूटने से उत्पन्न हुए हैं।

ये टुकड़े आपस में टकराकर और छोटे टुकड़ों में बंट गये होंगे। शनि की परिक्रमा कर रहे इन पिंडों के टुकड़ों की, छल्ले के रूप में भी परिक्रमा जारी रहती है। ये छल्ले शनि से 7000 से 80,000 कि. मी. तक की दूरी पर स्थित हैं।

शनि के कुछ छल्ले गुंथे हुए क्यों होते हैं?

वॉयेजर अंतरिक्ष यान द्वारा ली गयी तस्वीरों में शनि का एक छल्ला गुंथा हुआ दिखता है। यह एक रहस्य बना हुआ है। हो सकता है कि शनि के दो छोटे चंद्रमाओं के गुरुत्वाकर्षण से यह हुआ हो।

Leave a Reply