यूजर इंटरफेस क्या होता है User Interface Kya hota hai

Rate this post

यूजर इण्टरफेस User Interface

किसी कम्प्यूटर सिस्टम एवं यूज़र के मध्य सम्पर्क स्थापित करने की प्रक्रिया को यूज़र इण्टरफेस कहते हैं। यूज़र इण्टरफेस दो प्रकार का होता है।

1.कैरेक्टर यूजर इण्टरफेस Character User Interface-CUI

इस इण्टरफेस में यूज़र को प्रत्येक कमाण्ड के लिए विभिन्न कुंजियों (keys) को दबाना पड़ता है, अतः इस प्रकार के वातावरण में कार्य करने के लिए यूज़र का तकनीकी रूप से परिचित (Conversant) होना आवश्यक है। इसमें प्रयोग किए जाने वाले सॉफ्टवेयर में कमाण्ड एवं सिन्टैक्स याद रखने आवश्यक है। इसे कमाण्ड लाइन यूज़र इण्टरफेस भी कहते हैं। उदाहरण, DOS एवं यूनिक्स (UNIX) |

2.ग्राफिकल यूजर इण्टरफेस Graphical User Interface-GUI

इस इण्टरफेस में ग्राफ़िक्स का प्रयोग करके स्क्रीन पर चित्र, आइकन, मेन्यू या विण्डो जैसे तत्वों को प्रदर्शित किया जाता है। इण्टरफेस में प्रचलित ऑपरेटिंग सिस्टम Windows (95/98/2000 / ME/XP / Vista), Macintosh,Motif, Linux हैं। सर्वप्रथम जेरॉक्स कॉर्पोरेशन (Xerox Corporation) नामक कम्पनी ने GUI पर आधारित जेरॉक्स स्टार नामक कम्प्यूटर का विकास किया।

ग्राफिकल यूजर इण्टरफेस पर माउस का प्रयोग Using Mouse on a Graphical User Interface

1.सिंगल क्लिक (Single Click):- किसी आइकन का चयन करने के लिए माउस के प्वॉइण्टर को उस आइकन पर माउस के बाएँ बटन (Left Button) से क्लिक किया जाता है, जिसके फलस्वरूप वह आइकन हाइलाइट (Highlight) हो जाता है।

2.डबल क्लिक (Double Click) :- किसी आइकन द्वारा निरूपित किसी प्रोग्राम को क्रियान्वित करने के लिए माउस के प्वॉइण्टर (Pointer) को उस आइकन पर माउस के बाएँ बटन (Left Button) से दो बार तेजी से क्लिक जाता है, जिसके फलस्वरूप उस आइकन द्वारा प्रदर्शित प्रोग्राम क्रियान्वित हो जाता है।

3.विण्डो के बॉर्डर पर माउस के बाएँ बटन का सिंगल क्लिक (Single Click of Left Button of Mouse on Window’s Border) :- विण्डो के बॉर्डर पर माउस के प्वॉइण्टर को रखने से उसका आकार परिवर्तित हो जाता है। हम विण्डो के आकार को ऊर्ध्वाधर (Vertical), क्षैतिज (Horizontal) अथवा विकर्ण (Diagonal) दिशा में परिवर्तित कर सकते हैं।

4.आइकन पर माउस के दाएँ बटन का सिंगल क्लिक (Single Click of Right Button of Mouse on Icon):- आइकन को माउस के दाएँ बटन से क्लिक करने पर शॉर्टकट मेन्यू या उस आइकन से सम्बन्धित फीचर्स प्रदर्शित हो जाते हैं।

ग्राफिकल यूज़र इण्टरफेस पर कीबोर्ड का प्रयोग Use of Keyboard on a Graphical User Interface

1.ऑल्ट की (Alt key):- Alt की को दबाकर विण्डो के सभी मेन्यू सक्रिय (Active) किए जाते हैं। Alt की दबाने से मेन्यू का प्रथम ऑप्शन हाइलाइट हो जाता है।

2.शॉर्टकट कीज़ (Shortcut keys) :- शॉर्टकट कीज़ को किसी अन्य की (Key) के साथ दबाकर सक्रिय किया जाता है, जिसका निर्माण विण्डो के सभी मेन्यू विकल्पों में किसी एक कैरेक्टर को लेकर किया जाता है। उदाहरण, Alt+F4 का प्रयोग सिस्टम पर चलने वाली किसी एप्लीकेशन को बन्द करने के लिए, F1 का प्रयोग Help को डिस्प्ले करने के लिए किया जाता है।

3.4 बूटिंग Booting

यूज़र द्वारा कम्प्यूटर को स्विच ऑन करने पर ऑपरेटिंग सिस्टम में जो प्रक्रिया सबसे पहले क्रियान्वित होती है, उसे बूटिंग कहते हैं। यह प्रक्रिया के खिल ऑॉ

Leave a Comment