बायोस क्या होता है Bios kya hota hai

Rate this post

बायोस, बेसिक इनपुट-आउटपुट सिस्टम (Basic Input Output System) का संक्षिप्त रूप है। यह IBM कम्प्यूटर को दिए जाने वाले निर्देशों का एक समूह होता है। ये निर्देश कम्प्यूटर में एक चिप में संरक्षित (Store) रहते हैं।

बायोस का सबसे महत्त्वपूर्ण कार्य कम्प्यूटर को चालूकरते समय स्वपरीक्षण (Self Test) निर्देश देना होता है। स्वपरीक्षण यह तय करता है कि कम्प्यूटर के सभी भाग; जैसे-हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर, मैमोरी, कीबोर्ड आदि की उपयोगिता अर्थात् वे सब तकनीकी रूप से सही स्थिति में हैं।

यदि स्वपरीक्षण में कोई अनियमितता पाई जाती है, तो बायोस उसे ठीक करने के लिए कम्प्यूटर को एक कोड देता है। इस प्रकार के कोड प्रायः एक बीप के रूप में होते हैं, जो कम्प्यूटर को चालू करते समय सुनाई देते हैं।

इसके साथ ही बायोस कम्प्यूटर को आधारभूत सूचना भी देते हैं कि यह अपने कुछ आवश्यक घटकों, जैसे-ड्राइव्स और मैमोरी के साथ किस तरह इन्ट्रैक्शन (Interaction) करें। जब कम्प्यूटर में आधारभूत निर्देश लोड (Load) हो जाते हैं और स्वपरीक्षण सफलतापूर्वक पूर्ण हो जाता है, तो कम्प्यूटर आगे की प्रक्रिया पूरी करता है, जिसमें ऑपरेटिंग सिस्टम लोड करना सम्मिलित होता है।

Leave a Comment