किसी वस्तु का वजन ध्रुव प्रदेश से भूमध्य रेखा पर कम क्यों होता है?

Rate this post

पृथ्वी ध्रुव प्रदेश पर थोड़ी चपटी होने के कारण यह होता है। उसका चपटा होना उसके ध्रुवीय अक्ष पर गोल-गोल घूमने का नतीजा है।

अगर पृथ्वी संपूर्ण गोलाकार होती तो उसकी सतह पर सभी जगह गुरुत्वाकर्षण का (पृथ्वी के केंद्र की ओर खींचने वाला) बल समान रहता।

परंतु उसके गोलाकार ना होने से इस बल में (और इस कारण किसी वस्तु के वजन में) अक्षांश के अनुसार बदलाव होता जाता है। भूमध्य रेखा पर रखी वस्तुकेंद्र से सर्वाधिक दूर होने की वजह से उसका भार सबसे कम रहता है।

यह फर्क भूमध्य रेखा से लेकर ध्रुव प्रदेश तक सबसे अधिक होने के बावजूद वह केवल आधा प्रतिशत होता है। इसी प्रकार भूमध्य रेखा पर अपकेंद्रीय बल के कारण भी वजन कम मापा जाता है।

Leave a Reply